देश

10 किलो वजनी तोप का गोला लेकर दौड़ा सिपाही, बचाई 400 बच्चों की जान

भोपाल। मध्य प्रदेश में सागर जिले के चितोरा गांव में एक पुलिस कॉस्टेबल ने बहादुरी की जबरदस्त मिसाल दी है। यहां एक कॉस्टेबल 400 स्कूली बच्चों की जान बचाने के लिए 10 किलो का बम लेकर 1 किलोमीटर तक दौड़ा। यह बम स्कूल कैंपस में पड़ा हुआ था। अभिषेक पटेल नाम के इस कॉस्टेबल ने अपनी जान की परवाह किए बगैर बिना किसी बम निरोधी ड्रेस के इस बम को उठाया और स्कूल से दूर खुले मैदान में ले जाकर रख दिया ताकि यदि बम फटे तो कोई जान-माल का नुकसान न हो।

ये है मामला

मध्य प्रदेश के सागर जिले के चितोरा गाँव में एक स्कूल से 10 किलो वजन का तोप का गोला बरामद हुआ है। इस खबर की जानकारी जैसे ही लोगों को पता चली तो इलाके में अफरा-तफरी मच गई। खबर की जानकारी लगते ही इसके बारे में पुलिस को सूचना दी गई। स्कूल में पड़े इस तोप के गोले को एक कॉन्सटेबल अभिषेक पटेल ने बहादुरी दिखाते हुए इस 10 किलो के तोप के गोले को कंधे पर रखकर स्कूल से करीब एक किलोमीटर तक लेकर भागा।

स्कूल में 400 बच्चे थे मौजूद

कॉन्सटेबल की बहादुरी के चलते स्कूल में मौजूद 400 बच्चों और स्कूल को किसी प्रकार की हानि से बचाया गया। बम को दूर लेकर जाने वाले कॉन्सटेबल अभिषेक पटेल ने बताया, 'मैं बम को रिहाइशी इलाके और स्कूल से काफी दूर ले गया ताकि बच्चों को कोई हानि नहीं पहुंचे।'

वीडियो हुआ वायरल

तोप का गोला लेकर दौड़ते हुए अभिषेक पटेल का 12 सेकेंड के एक विडियो वायरल हो गया है। स्कूल के एक छात्र बसंत कुमार ने बताया, 'जैसे ही स्कूल परिसर में बम होने का पता चला वैसै ही छात्रों के छुट्टी दे दी गई।'

तोप के गोले की हो रही जांच

सागर के आईजी सतीश सक्सेना ने बताया, 'घटनास्थल के पास में ही आर्मी का शूटिंग रेंज है, बम वहां कैसे पहुंचा इसकी जांच की जा रही है। उन्होनें बहादुरी के लिए कॉन्सटेबल अभिषेक पटेल को इनाम देने की घोषणा भी की।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।