दिवाली से पहले किसानों को केंद्र सरकार का तोहफा, बढ़ायी रबी फसलों की एमएसपी

दिवाली से पहले किसानों को केंद्र सरकार का तोहफा, बढ़ायी रबी फसलों की एमएसपी

केंद्र सरकार ने दिवाली से पहले किसानों को बड़ा तोहफा दिया है, केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में सरकार ने रबी सत्र (2019-20) की फसलों की एमएसपी बढ़ाने का फैसला लिया है।

एमएसपी यानी न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ने से अब किसानों को बड़ा फायदा होगा। गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 85 रुपए प्रति कुंतल बढ़ाया गया है। वहीं दालों के एमएसपी में सरकार ने 325 रुपए का इजाफा किया है।

इतना बढ़ी एमएसपी

गेहूं का समर्थन मूल्य 1840 रुपए प्रति कुंतल से बढ़कर 1,925 रुपए हो गया है। इसमें 85 रुपए की वृद्धि हुई है।

जौ की एमएसपी में 85 रुपए प्रति कुंतल का इजाफा हुआ है। पहले यह 1,440 रुपए प्रति कुंतल था, जो अब 1,525 रुपए प्रति कुंतल हो गया है।

दलहन की खेती को प्रोत्‍साहित करने के लिए सरकार ने मसूर के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य को 325 रुपए बढ़ाकर 4,800 रुपए प्रति कुंतल कर दिया है जो पिछले साल 4,475 रुपए प्रति कुंतल था। इसी प्रकार चने की एमएसपी में 255 रुपए की बढ़ोत्तरी की गई है और इसे 4,875 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। पिछले साल इसकी एमएसपी 4,620 रुपये प्रति कुंतल थी।

तिलहन में सरसों के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य में 225 रुपए प्रति कुंतल का इजाफा कर 4,425 रुपए प्रति कुंतल कर दिया गया है। पिछले वर्ष यह 4,200 रुपए प्रति कुंतल था।

चना के समर्थन मूल्य में 255 रुपए की वृद्धि हुई है, पहले चने की एमएसपी 6620 थी जो अब 4875 रुपए प्रति कुंतल हो गई है।

क्या है एमएसपी

किसानों के हितों की रक्षा करने की खातिर न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की व्यवस्था लागू की गई है। अगर कभी फसलों की कीमत गिर जाती है, तब भी सरकार तय न्यूनतम समर्थन मूल्य पर ही किसानों से फसल खरीदती है। इसके जरिये सरकार उनका नुकसान कम करने की कोश‍िश करती है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top