Top

18 साल के युवा को सोशल मीडिया पर टिप्पणी करना पड़ा भारी, जेल में काटे 42 दिन 

18 साल के युवा को सोशल मीडिया पर टिप्पणी करना पड़ा भारी, जेल में काटे 42 दिन file foto

नई दिल्ली (भाषा)। एक युवा को अपने फेसबुक पोस्ट में गंगा को जीवित इकाई का दर्जा देने का मजाक बनाने, राम मंदिर बनाने के भाजपा के वादे पर वाद-विवाद करने और केंद्र द्वारा एयर इंडिया को दी गई हज सब्सिडी वापस न लेने जैसी टिप्पणियां करना भारी पड गया और उसे इसके लिए 42 दिन जेल में बिताने पडे।

ये भी पढ़ें-मैं मेरे गाँव को क्या दूंगा ये सभी को संकल्प करना होगा - पीएम मोदी

इन टिप्पणियों को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने आपराधिक मानते हुए 18 वर्षीय जाकिर अली त्यागी को गिरफ्तार कर लिया। जाकिर ने बताया कि उसको खतरनाक अपराधियों के साथ 42 दिन मुजफ्फरनगर की जेल में गुजारने पडे जहां उसे शौचालय का इस्तेमाल करने तक के लिए भी पैसे चुकाने पडते थे।

जाकिर को दो अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था और उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 ( धोखाधडी) और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम (कंप्यूटर संबंधित अपराध) की धारा 66 के तहत आरोप तय किए गए।

ये भी पढ़ें-सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, 18 वर्ष से कम उम्र की पत्‍नी के साथ शारीरिक संबंध बनाना माना जाएगा ‘बलात्‍कार’

जाकिर के वकील काजी अहमद ने पीटीआई भाषा को बताया कि उसे 42 दिन के बाद जमानत पर रिहा किया गया लेकिन पुलिस ने अपने आरोप-पत्र में राजद्रोह से संबंधित धारा 124ए भी जोड दी है। जाकिर ने अपनी यह व्यथा भारतीय प्रेस क्लब में संवाददाताओं को सुनाई।

उसे भीम आर्मी डिफेंस कमेटी द्वारा दिल्ली लाया गया। यह फोरम दलितों, अल्पसंख्यकों और हाशिए पर रखे दूसरे लोगों के खिलाफ कथित अन्याय के मामलों का संज्ञान लेता है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.