कांग्रेस ने अपने सदस्य को भेजा नोटिस, पांच दिन में मांगा जवाब  

कांग्रेस ने अपने सदस्य को भेजा नोटिस,  पांच दिन में मांगा जवाब  उत्तर प्रदेश कांग्रेस।

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश कांग्रेस की अनुशासन समिति ने पार्टी नेतृत्व के प्रति ‘निराधार' और ‘अवांछनीय टिप्पणी' करने और रायबरेली के एक स्थानीय पदाधिकारी से मारपीट के आरोप में निलंबित किये गये विधान परिषद सदस्य दिनेश प्रताप सिंह को एक नोटिस जारी करके पांच दिन के अंदर स्पष्टीकरण मांगा है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति के चेयरमैन व पूर्व मंत्री रामकृष्ण द्विवेदी ने पार्टी के विधान परिषद सदस्य दिनेश प्रताप सिंह को भेजे गये नोटिस में कहा है कि समिति के संज्ञान में प्रमाण के साथ तथ्य लाया गया है कि सिंह ने रायबरेली जिला कांग्रेस के महामंत्री मनोज कुमार पासवान को अपने आवास में मारा-पीटा और जिला कांग्रेस के सदस्यों को अगवा करके प्रताडित किया। साथ ही प्रेस कांफ्रेंस करके पार्टी के शीर्ष नेताओं के प्रति निराधार एवं अवांछनीय टिप्पणी से पार्टी की छवि धूमिल करने का प्रयास किया।

द्विवेदी ने कहा कि सिंह के खिलाफ रायबरेली से सांसद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के प्रतिनिधि के. एल. शर्मा के बारे में भी अशिष्ट भाषा का प्रयोग करने की शिकायत की गयी है। सिंह ने पार्टी के अंदर अलगाववाद तथा अन्तर्कलह को जन्म देकर संगठन को मर्माहत किया है जिससे पार्टी में विरोधी गम्भीर कृत्य से नकारात्मक संदेश गया है।उन्होंने सिंह से कहा कि वह पांच दिन के अंदर अपना पक्ष स्पष्ट करें।

गौरतलब है कि विधान परिषद सदस्य सिंह को गत 18 अप्रैल को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया था। कांग्रेस जिलाध्यक्ष वी. के. शुक्ला ने बताया था कि स्थानीय पार्टी नेताओं से कथित दुर्व्यवहार करने तथा वरिष्ठ नेताओं पर प्रतिकूल टिप्पणियां करने के लिए सिंह के खिलाफ कार्रवाई की गयी है। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को भरोसे में लेने के बाद ये फैसला किया गया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.