Top

कोरोना वायरस: राजस्थान सरकार की पहल, बायोमेट्रिक नहीं ओटीपी के जरिए होगा किसानों का रजिस्ट्रेशन

Divendra SinghDivendra Singh   19 March 2020 6:33 AM GMT

कोरोना वायरस: राजस्थान सरकार की पहल, बायोमेट्रिक नहीं ओटीपी के जरिए होगा किसानों का रजिस्ट्रेशन

दुनिया भर में कोरोना के बढ़ते असर को रोकने के लिए हर को प्रयास में लगा हुआ है, ऐसे में राजस्थान में नई पहल शुरू की है, इस बार रबी फसलों की खरीद के लिए रजिस्ट्रेशन बायोमेट्रिक नहीं ओटीपी से किया जा रहा है।

अभी रबी फसलों की कटाई चल रही है, जिसे समर्थन मूल्य योजना के तहत खरीदने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाए जा रहे हैं। अभी तक किसानों की उंगलियों के निशान (बायोमेट्रिक) से सत्यापन होता था। लेकिन कोरोना वायरस के चलते अब सरकार ने किसानों के रजिस्ट्रेशन के लिए मोबाइल नंबर पर आने वाले ओटीपी से रजिस्ट्रेशन के निर्देश दिए हैं।

राजस्थान सहकारिता विभाग के सयुंक्त सचिव नारायण सिंह फोन पर बताते हैं, "अभी तक बायोमेट्रिक से सत्यापन जरूरी होता था, हर बार की तरह इस बार भी बायोमेट्रिक से रजिस्ट्रेशन होता, लेकिन कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए ये नया बदलाव लाया गया है। इस बार ओटीपी के जरिए रजिस्ट्रेशन किया जाएगा।"

ये भी पढ़ें : भय और भ्रांतियों के बीच फैल रहा कोरोना और उसका डर

राजस्थान में सरसों और चने की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए बुधवार 18 मार्च से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू किये गए हैं। कोटा संभाग के किसानों के लिए 6 मार्च से ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो गया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अभी तक दुनिया के 166 देशों 207,860 लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई है, अभी कोरोना से 8,657 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि भारत में 151 लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया है, जिससे तीन लोगों की मौत भी हो चुकी है।

किसान फसल का पंजीयन ई-मित्र से करवा सकेंगे इसके लिए किसान को अब उंगलियों के निशान के बजाये मोबाइल नम्बर पर एक कोड आएगा इस कोड के माध्यम से किसान समर्थन मूल्य पर चना और सरसों बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे। रजिस्ट्रेशन 9 बजे से शाम 7 बजे तक होगा। किसान के खेत जिस तहसील में होगा, उसी तहसील के कार्यक्षेत्र में आने वाले खरीद केन्द्र का चयन रजिस्ट्रेशन के दौरान कर सकेगा। पंजीयन के लिए किसान को यह सभी दस्तावेज अपने साथ लेकर ई–मित्र के पास जाएं। खरीद केन्द्र का चयन रजिस्ट्रेशन के दौरान कर सकेगा। पंजीयन के लिए किसान को यह सभी दस्तावेज अपने साथ लेकर ई–मित्र के पास जाए।

"कोरोना से बचाव के लिए खरीद केन्द्रों को भी निर्देशित किया जा रहा है कि खरीद के दौरान भीड़-भाड़ की स्थिति नहीं बने तथा सुचारू रूप से खरीद भी हो जाये और संक्रमण से बचाव भी हो जाये। खरीद के दौरान 50 से अधिक किसानों का इकट्ठा नहीं हो इसको सुनिश्चित किया जाएगा।" नारायण सिंह बताते हैं।

निर्धारित केन्द्रों पर सरसों 4425 रुपये और चना 4875 रुपये के समर्थन मूल्य पर किसानों से खरीदा जाएगा। किसानों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, उपज के बेचान व भुगतान आदि के संबंध किसी प्रकार की समस्या न हो, इसके लिए वे टोल फ्री नम्बर 18001806001 पर फोन कर समस्या का समाधान कर सकते हैं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश भर में 31 मार्च तक धारा 144 लागू किए जाने के निर्देश दिए हैं। सीएम गहलोत ने इसके साथ ही झुंझुंनू में जिस स्थान पर कोरोना वायरस से संक्रमित तीन रोगी पाए गए हैं, वहां अगले दो दिन तक मरीजों के घर से एक किलोमीटर के दायरे में कर्फ्यू लगाए जाने के भी निर्देश दिए हैं। ऐसा इसलिए किया गया जिससे दूसरे लोगों में संक्रमण फैलने से रोका जा सके।

ये भी पढ़ें: कोरोना के डर से अपने घरों में समय बिता रहे लोग क्या कह रहे हैं ?


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.