डिजिधन योजना ने बनाया करोड़पति, 1500 रुपए खर्च करने वाली श्रद्धा को मिला 1 करोड़ रुपए का इनाम 

डिजिधन योजना ने बनाया करोड़पति, 1500 रुपए खर्च करने वाली श्रद्धा को मिला 1 करोड़ रुपए का इनाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ महाराष्ट्र की श्रद्धा

नागपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को डिजिधन योजना के विजेता का ऐलान किया। महाराष्ट्र की श्रद्धा को मिला 1 करोड़ रुपये का इनाम. उन्होंने मात्र 1500 रुपए का भुगतान किया था। केंद्र सरकार ने यह योजना बीते 25 दिसंबर को शुरू की थी। श्रद्धा मोहन महाराष्ट्र के लातूर की रहने वाली हैं, उनके पिता छोटी सी किराने की दुकान चलाते हैं।


तमिलनाडु के वेस्ट तांबरम के जीआरटी ज्वैलर्स ने आईसीआईसीआई के जरिए महज 300 रुपये का भुगतान कर 50 लाख रुपये जीत। इसके तहत एमडी जीआर राधाकृष्णन ने किया पुरस्कार ग्रहण किया। उन्होंने इनाम में मिले पैसों को गंगा की सफाई के लिए दान किया। उनका बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने भी 50 लाख रुपये भी दान किये।

दूसरा पुरस्कार ठाणे की रागिनी राजेंद्र उत्तेकर को मिला। उन्होंने पीएनबी के जरिये महज 510 रुपये का भुगतान किया था। तो वहीं हैदराबाद के तीसरा पुरस्कार शेख रफी को मिला जिन्होंने 2000 रुपये का भुगतान किया था और उन्हें 12 लाख रुपये का इनाम मिला।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश का कोई गरीब बेघर नहीं होगा। भीम एप अर्थव्यवस्था के लिए महारथी जैसे काम करेगा। भारत जैसे देश में करेंसी छापने अरबों रुपए का खर्च आता है। हमे इसे बंद करना होगा। इससे गरीबों का कल्याण होगा। कम कैश से करोबाद चालाया जा सकता है। कम कैश जीवन में भी महत्व रखेगा।

जमाना बदल रहा है। अंगूठे का महत्व बढ़ रहा है। टेक्नोलोजी ने अंगूठे के महत्व को बदला है। भीम एप एतिहासिक है। युवा मोबाइल पर लगे रहते हैं। किराने की दुकान पर डिजिटल पेमेंट की सुविधा होगी। उत्तर व्यवस्था की ओर हमारा देश बढ़ रहा है। वे दिन दूर नहीं होगा जब दुनिया की बड़े-बड़े विश्वविद्यालय हमारे भीम एप को सराहेंगे। दुनिया इसे अपना अपना विषय बनाएगा।

Share it
Top