हमे कमजोर करने के लिए भारत को दलाई लामा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए : चीन 

हमे कमजोर करने के लिए भारत को दलाई लामा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए : चीन दलाई लामा।

बीजिंग (भाषा)। चीन ने दलाई लामा की हालिया अरुणाचल प्रदेश यात्रा के कारण भारत चीन संबंधों पर ‘नकारात्मक असर' पड़ने की बात कही और साथ ही कहा कि भारत को तिब्बती अध्यात्मिक नेता का इस्तेमाल बीजिंग के हितों को ‘कमजोर' करने के लिए नहीं करना चाहिए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा, ‘‘दलाई लामा की अरुणाचल प्रदेश यात्रा का भारत चीन संबंधों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा है।

भारत को तिब्बत संबंधी मुद्दों पर प्रतिबद्धता का पालन करना चाहिए और चीन के हितों को कमजोर करने के लिए दलाई लामा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।'' उन्होंने कहा कि केवल यही एक रास्ता है जिसके जरिए ‘‘हम सीमा के सवाल को सुलझाने के लिए अच्छा माहौल तैयार कर सकते हैं।'' चीन के प्रवक्ता की यह टिप्पणी शुक्रवार को भारतीय विदेश मंत्रालय के जवाब की पृष्ठभूमि में आयी है जिसमें कहा गया था कि तिब्बत के चीन का हिस्सा होने के संबंध में नई दिल्ली की स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

देश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले कह चुके हैं कि भारत बरसों से लंबित सीमा मुद्दे का आपसी रुप से स्वीकार्य और न्यायोचित समाधान की तलाश जारी रखेगा। दई लामा चार से 11 अप्रैल तक अरुणाचल प्रदेश के दौरे पर गए थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top