देश

जगन्नाथ मंदिर के खजाने घर का निरीक्षण आज, लंगोट पहनकर खजाने के अंदर प्रवेश करेगी टीम

12वीं सदी में ओडिशा के मशहूर जगन्नाथ मंदिर का खजाना घर 4 अप्रैल को खोला जाएगा। खजाना घर के मुआयने के लिए 10 सदस्यों की टीम तहखाने में जाएगी। खजाने को लेकर किसी तरह की गड़बड़ी न हो इसे लेकर खास ध्यान रखा गया है जिसके मद्देनजर जांच करने वाली टीम के सदस्यों को सिर्फ लंगोट ही पहन कर अंदर जाने की इजाजत दी गई है। टीम तहखाने के मुआयने के साथ-साथ दीवार और छत का भी निरीक्षण करेगी।

खजाने की जांच के दौरान नहीं हो सकेंगे दर्शन

मंदिर के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी प्रदीप जेना ने बताया जिस वक्त खजाना खोला जाएगा उस वक्त कोई भी व्यक्ति मंदिर में दर्शन नहीं कर पाएगा। जेना के अनुसार टीम में दो सदस्य भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के भी हैं। खजाना घर का निरीक्षण करने वाली टीम को सिर्फ भवन देखने की अनुमति दी गई है। टीम खजाना घर में रखे किसी भी संदूक को न तो खोल पाएगी न ही किसी सामान को हाथ लगा पाएगी।

हर सदस्य की होगी तलाशी

खजाने का निरीक्षण करने वाली टीम के हर सदस्य की जाने और आने के बाद तलाशी ली जाएगी। जेना ने बताया कि टीम के सभी सदस्यों को कोषागार में प्रवेश से पहले त्रिस्तरीय जांच से गुजरना पड़ेगा। इस दौरान टीम के सदस्य सिर्फ टॉर्च और ऑक्सीजन के सिलेंडर ही लेकर ही तहखाने के अंदर जा सकेंगे।

बता दें कि इससे पहले यह 1984, 1978, 1926 और 1905 में खोला गया था। मंदिर के अधिकारियों को कोषागार की चाबी उसी दिन पुरी स्थित सरकारी कोषागार से मिलेगी। जगन्नाथ मंदिर पुरी में स्थित है और हिन्दुओं के चार धामों में से एक है। तीन अन्य धाम बद्रीनाथ, द्वारका और रामेश्वरम हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।