बिहार के बेगूसराय में कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान के दौरान भगदड़, तीन की मौत

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   4 Nov 2017 12:47 PM GMT

बिहार के बेगूसराय में कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान के दौरान भगदड़, तीन की मौतनीतीश कुमार।

नई दिल्ली। बिहार के बेगूसराय में कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान के अवसर पर भगदड़ में तीन की मौत हो गई और कई घायल हो गए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस हादसे पर दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए बतौर मुआवजा देने का एलान किया है।

आज पूरे देश में कार्तिक पूर्णिमा मनाया जा रहा है। मान्यता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा नदी में स्नान करने से जीवन के सारे पाप धुल जाते हैं तथा स्वास्थ्य एवं समृद्धि में वृद्धि होती है।

बिहार के बेगूसराय जिले के चकिया थाना क्षेत्र के तहत सिमरिया घाट पर गंगा स्नान के दौरान मची भगदड़ में तीन श्रद्धालुओं की मौत हो गई है, इस भगदड़ में कई लोग घायल हुए हैं। कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु गंगा स्नान के लिए वहां जमा हुए थे। फिलहाल प्रशासन ने वहां राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस हादसे में तीन लोगों की मौत हुई है जबकि 10 लोग घायल हुए हैं। यह हादसा गंगा पर बने रोड कम रेल ब्रिज यानी राजेन्द्र पुल के काफी नजदीक हुआ है। इसके अलावा उस स्थान पर अर्धकुंभ चल रहा था। इस वजह से गंगा घाट पर श्रद्धालुओं की संख्या ज्यादा थी। मरने वाले और घायलों में अधिकांश महिलाएं हैं। यह स्थान राजधानी पटना से करीब सवा सौ किलोमीटर दूर है।

बेगूसराय के सहायक पुलिस अधीक्षक मिथिलेश कुमार ने भगदड़ की घटना से इनकार करते हुए बताया कि अत्यधिक भीड़ होने के कारण अफरा-तफरा का माहौल पैदा हो गया था, जिससे तीन बुजुर्ग महिलाओं की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि अभी तक मृतकों की पहचान नहीं हुई है।

इधर, पुलिस के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि इस घटना में करीब एक दर्जन लोग घायल हुए हैं, जिन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

गौरतलब है कि बिहार में गंगा घाटों पर कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर लाखों श्रद्घालु स्नान के लिए इकट्ठा होते हैं। सिमरिया के गंगा तट पर अभी कल्पवास और तुलार्क महाकुंभ के कारण पहले से ही लाखों लोग जुटे हुए हैं। कार्तिक पूर्णिमा के कारण शनिवार को भीड़ बढ़ गई।

पुलिस अधिकारी कुमार ने बताया कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। पूरे क्षेत्र में जवानों को तैनात किया गया है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस हादसे पर दुख जताया है और मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति सांत्वना व्यक्त की है। इसके साथ ही भगदड़ में मरे श्रद्धालुओं के परिजनों को चार-चार लाख रुपए बतौर मुआवजा देने का एलान किया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top