Top

जानिए लॉकडाउन 5.0 में क्या-क्या खुलने की मिली है छूट

जानिए लॉकडाउन 5.0 में क्या-क्या खुलने की मिली है छूट

देशव्यापी लॉकडाउन का पांचवा चरण 30 जून तक लागू रहेगा। गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन 5.0 को लेकर गाइडलाइंस भी जारी कर दी है जिसके अनुसार कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से छूट मिलेगी।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने 31 मई को खत्म हो रहे लॉकडाउन को 30 जून तक बढ़ा दिया है। गृह मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार पहले फेज में आठ जून से धार्मिक स्थल, सार्वजनिक पूजा स्थल, होटल, रेस्तरां और शॉपिंग मॉल्‍स शर्तों को साथ खुल जाएंगे। सुबह पांच बजे से रात 9 बजे तक छूट रहेगी बाकी रात्रि में पहले की तरह की कर्फ्यू रहेगा। रात को धारा 144 के साथ सख्त पाबंदी लागू रहेगी।

एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने का प्रतिबंध पूरी तरह से हटा दिया गया है। हर राज्य के लोग एक जिले से दूसरे जिले में आ जा सकेंगे। हमेशा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। अब कहीं आने जाने से पहले किसी की कोई इजाजत लेने या ई-परमिट लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

कंटेनमेंट जोन में केवल बेहद जरूरी गतिविधियों की ही अनुमति दी जायेगी। मेडिकल इमरजेंसी सेवा और आवश्यक आपूर्ति को छोड़कर इन इलाकों में लोगों की आवाजाही पर रोक रहेगी। यही नहीं कंटेनमेंट जोन में मरीजों की पहचान के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग भी होगी। सरकारी कर्मचारी घर-घर जाकर निगरानी का काम करेंगे और जरूरी कदम उठाएंगे।

जारी गाइडलाइन के अनुसार कंटेनमेंट जोन के अंदर तो सब कुछ बंद रहेगा लेकिन कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से बाकी गतिविधियां शर्तों के साथ खुलेंगी। सरकार की ओर से जारी निर्देशों में कहा गया है कि 65 साल से अधिक के बुजुर्ग और 10 साल से कम उम्र के बच्चे बाहर तबतक न निकलें जबतक कोई मेडिकल इमरजेंसी या कोई महत्वपूर्ण काम न हो।

भारत में लगभग 70 दिन बाद धार्मिक स्थल खुलेंगे। मंदिर-मस्जिद-गुरुद्वारा-चर्च को खोलने की अनुमति मिल गयी है। पांचवे चरण के एक महीने के लॉकडाउन में आने वाले दिनों में तीन चरणों में छूट दी जायेगी।

पहला चरण- आठ जून के बाद धार्मिक स्थल,रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल्स, होटल और हॉस्पिटैलिटी से जुड़ी सेवाएं खुल जाएंगी।

दूसरा चरण- राज्य सरकार के फैसले के अनुसार स्कूल, कॉलेज, एजुकेशन, ट्रेनिंग और कोचिंग इंस्टिट्यूट खुलने की छूट मिलेगी।

तीसरा चरण- राज्य सरकारें अपने क्षेत्र की स्थिति का जायजा लेते हुए इंटरनेशनल फ्लाइट, मेट्रो रेल सेवा, सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और इनके जैसी बाकी जगहों को आम लोगों के लिए खोल सकती सकती हैं। इसी चरण में सामाजिक, राजनीतिक रैलियां, स्पोर्ट्स इवेंट, अकादमिक और सांस्‍कृतिक कार्यक्रम, धार्मिक समारोह और बाकी बड़े जमावड़े शुरू किए जाने की बात है।




Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.