कुमारस्वामी के सात मिनट के शपथग्रहण समारोह पर खर्च हुए 42 लाख रुपए, अकेले केजरीवाल ने उड़ाए 1.85 लाख

कुमारस्वामी के सात मिनट के शपथग्रहण समारोह पर खर्च हुए 42 लाख रुपए, अकेले केजरीवाल ने उड़ाए 1.85 लाख

लखनऊ। कर्नाटक में कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाने वाले जनता दल (सेक्युलर) नेता और मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी का शपथग्रहण समारोह इतना सरल और सादगी भरा था कि उनकी सरकार ने महज सात मिनट में ही लाखों रुपए पानी की तरह बहा दिए गए। यहां गौर करने वाली बात ये भी है कि ये वही कुमारस्वामी हैं जिनके पास पूरकार्मिक कर्मचारियों को देने के लिए पैसे नहीं है। और तो और, जिस राज्य में तीन बहनों की मौत भूख से हो जाती है, वहां के मुख्यमंत्री ने महज चंद घंटों में खाने-पीने के पर हजारों रुपए उड़ा दिए।



कर्नाटक में बीते 23 मई को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार के शपथग्रहण कार्यक्रम में कुमारस्वामी ने विपक्ष के लगभग हर नेता को बुलाया था। शपथ समारोह में आए मेहमानों की आवाभगत में बहाए गए इन रुपयों को खुलासा एक आरटीआई के जरिए हुआ है।

येे भी पढ़ें- कर्नाटक सरकार ने माफ किया किसानों का २ लाख रुपयों तक का कर्ज

सबसे ज्यादा 8,72485 रुपए आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर खर्च किया गया। सादगी की मिसाल और आम लोगों के नेता कहे जाने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी किसी से पीछे नहीं रहे। उन्होंने ने भी दो लाख रुपए का बट्टा लगाया।

चंद घंटों में केजरीवाल ने खर्च किए 76000


बैंगलोर से प्रकाशित अंग्रेजी अखबार बैंगलोर मिरर के अनुसार दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ताज वेस्ट एंड होटल में 23 मई की सुबह 9:49 बजे चेक इन करते हैं। अगले दिन सुबह 5:34 बजे वह होटल से चेक आउट कर गए। होटल में पहुंचने वाले दिन उनके इन-रूम डाइनिंग और खाने-पीने का बिल 71,025 रुपए और बेवरेज का बिल 5000 रुपए है। इसके अलावा केजरीवाल होटल में लगभग 20 घंटे रुके थे जिसका कुल बिल 1.85 लाख रुपए आया। दिल्ली में पिछले दिनों भूख से तीन बहनों की मौत हो गई थी।

ये नेता भी नहीं रहे पीछे

शपथग्रहण समारोह में देशभर के 14 दलों के 42 नेता पहुंचे थे। बैंगलोर मिरर की खबर के अनुसार बसपा सुप्रीमो मायावती के ठहरने और खाने-पीने का खर्च 1.41 लाख रुपए आया। इसके अलावा सपा नेता अखिलेश यादव ने 1.2 लाख रुपए, कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने 1.2 लाख रुपए, सीपीआई एम नेता सीताराम येचुरी ने 64 हजार रुपए, सीपीआई एम नेता विजयन ने 1.2 लाख रुपए, एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने 38 हजार, झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता हेमंत सोरेन ने 38 हजार और जेवीएमपी नेता बाबूलाल मरांडी ने कर्नाटक राज्य का 45,952 रुपए का बिल फड़वाया।


आरटीआई के मुताबिक इससे पहले 13 मई 2013 को सिद्धारमैया और 17 मई, 2018 को बीएस येदियुरप्पा के शपथग्रहण के दौरान सरकार ने मेहमानों के रुकने का खर्च नहीं उठाया था। कुमारस्वामी के शपथग्रहण में 42 बड़े नेताओं को बुलाया गया था। इन सबके ठहरने और खाने-पीने पर सरकारी धन का इस्तेमाल किया गया है।

सिरसा ने लगवाया केजरीवाल को बोर्ड

जैसे ही खबर आई, ट्वीटर पर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ लोगों ने खूब आक्रोश व्यक्त किया। इसी बीच शिरोमणि अकाली दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता और दिल्ली विधानसभा के सदस्य मनजिंदर सिंह सिरसा ने केजरीवाल पर तंज कसते हुए होर्डिंग लगवाया है। होर्डिंग पर लिखा हुआ है कि दिल्ली के गरीब भूखे मर रहे हैं और दारूबाज केजरीवाल जनता के पैसों से ऐश कर रहा है। होर्डिंग पर छपा हुआ है कि केजरीवाल ने एक दिन में 80,000 की दारू पी है।

Share it
Share it
Share it
Top