नवरात्रि पर शक्तिपीठ और देवी मंदिरों में दर्शनार्थियों को हरसंभव सुविधा देगी उत्तर प्रदेश सरकार : योगी आदित्यनाथ 

नवरात्रि पर शक्तिपीठ और देवी मंदिरों में दर्शनार्थियों को हरसंभव सुविधा  देगी उत्तर प्रदेश सरकार : योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी

लखनऊ (भाषा)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि नवरात्रि पर राज्य में स्थित सभी शक्तिपीठ एवं देवी मन्दिरों में दर्शनार्थियों एवं तीर्थयात्रियों को हरसम्भव सुविधा देने के लिए राज्य सरकार कटिबद्ध है।

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि नवरात्रि में श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके दृष्टिगत मुख्यमंत्री ने पुलिस-प्रशासन, परिवहन, बिजली, स्वास्थ्य एवं स्थानीय निकाय प्रशासन आदि को जरूरी व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि दर्शनार्थियों की सुरक्षित यात्रा, दर्शन एवं वापसी की व्यवस्था के लिए बेहतर परिवहन व्यवस्था सुनिश्चित हो सके, इसके लिए अतिरिक्त बसों की व्यवस्था की जाए। इसके साथ ही, जिन शक्तिपीठों में नदी एवं सरोवर है, वहां पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए गोताखोरों की व्यवस्था की जाए। शर्मा ने बताया कि सभी शक्तिपीठों पर 24 घण्टे बिजली दिए जाने के साथ ही, अतिरिक्त ट्रांसफार्मरों की व्यवस्था के निर्देश भी दिए गए हैं।

उत्तर प्रदेश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य संबंधी सहूलियत देने के लिए मुख्य चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे जिला एवं अन्य महत्वपूर्ण चिकित्सालयों को श्रद्धालुओं की चिकित्सा सुविधा के लिए पूरी तरह तैयार रखें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी आकस्मिकता एवं मौसमी बीमारियों के लिए पर्याप्त दवा एवं डाक्टरों का प्रबन्ध सुनिश्चित करने के साथ ही, शक्तिपीठों और प्रमुख देवी मन्दिरों के पास यथावश्यक चिकित्सा शिविरों की व्यवस्था की जाए। सभी जिलाधिकारियों, नगर आयुक्तों तथा अधिशासी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि नवरात्रि के अवसर पर शक्तिपीठों एवं देवी मंदिरों पर श्रद्धालुओं की भारी संख्या को देखते हुए वहां पर पर्याप्त स्वच्छता एवं साफ-सफाई की निरन्तर व्यवस्था की जाए।

राज्य सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार मुख्यमंत्री ने नवरात्रि के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक दी।

Share it
Top