दो हंसों का जोड़ा टूट गया, सूफी गायक वडाली बंधु के प्यारे लाल वडाली नहीं रहे

दो हंसों का जोड़ा टूट गया, सूफी गायक वडाली बंधु के प्यारे लाल वडाली नहीं रहेसूफी गायक वडाली बंधु के प्यारे लाल वडाली।

लखनऊ। दो हंसों का जोड़ा टूट गया। सूफी गायक वडाली बंधु के प्यारे लाल वडाली (75 वर्ष) का आज निधन हो गया। उनके दूसरे साथी व बड़े भाई पूरण चंद वडाली हैं। प्यारे लाल वडाली ने अमृतसर के फोर्टिस एस्कार्ट अस्पताल में अंतिम सांस ली। उन्हें तबियत खराब होने के बाद गुरुवार को भर्ती कराया गया था। एक टीवी चैनल के अनुसार उस्ताद प्यारेलाल वडाली का कार्डियक अरेस्ट से निधन हुआ।

अमृतसर के समीप एक गांव के रहने वाले वडाली ब्रदर्स दुनियाभर में अपनी गायकी के लिए काफी मशहूर हैं। पंजाब के एक मशहूर शहर जालंधर के प्रसिद्ध हरभल्लब मंदिर में दोनों गायक भजन, गजल, काफियन और पंजाबी सूफी गीत गाते थे। लोग बड़े चाव से उन्हें सुनते थे।

सूफी गायक वडाली बंधु के प्यारे लाल वडाली

वडाली ब्रदर्स ने भारत और अन्य देशों में कई शो किए हैं। उनके मशहूर गीतों में 'तू माने या ना माने दिलदारा, आसां ते तेनू रब मान्या' जैसे गीत शामिल हैं। उन्होंने 'पिंजर' जैसी फिल्मों के लिए भी गाया है।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top