Top

दिल्ली में आज एमसीडी चुनाव, पहली बार वोट देने वालों को मिलेंगे गुलाब के फूल और चॉकलेट्स

दिल्ली में आज एमसीडी चुनाव, पहली बार वोट देने वालों को मिलेंगे गुलाब के फूल और चॉकलेट्स68 विधानसभाओं में 68 पोलिंग स्टेशंस बनाए गए हैं। 

नई दिल्ली। दिल्ली में आज एमसीडी का चुनाव है। इसके लिए दिल्ली के चुनाव आयोग ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। दिल्ली में इस बार 13141 पोलिंग स्टेशन हैं और इनमें 799 संवेदनशील और 208 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र हैं। राज्य चुनाव कमिश्नर एसके श्रीवास्तव का कहना है कि 68 विधानसभाओं में 68 पोलिंग स्टेशंस बनाए गए हैं। साथ ही जो मतदाता पहली बार वोट डाल रहे हैं उनके लिए खास व्यवस्था की गई। नए युवा मतदाताओं को उत्साहित करने के लिए उन्हें गुलाब के फूल और चॉकलेट्स दी जाएंगी। इस बार दिल्ली में पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं की संख्या लगभग 25 हजार है।

आपको बता दें कि इस बार एमसीडी चुनाव में कुल 2537 उम्मीदवार अपनी किस्मत आज़मा रहे हैं, जिनमें से सबसे ज़्यादा 1004 उम्मीदवार नॉर्थ एमसीडी में हैं। इसके बाद साउथ एमसीडी में 985 और ईस्ट एमसीडी में 548 उम्मीदवार मैदान में हैं। तीनों एमसीडी के 272 सीटों के लिए कांग्रेस ने 271 उम्मीदवार उतारे हैं तो बीजेपी के 267 उम्मीदवार मैदान में हैं जबकि आम आदमी पार्टी ने 272 उम्मीदवारों को टिकट दिया है।

पार्टियों के लिए इस बार के चुनाव में बागियों से निपटना आसान नहीं है। कांग्रेस से जहां करीब 50 बागी उम्मीदवार मैदान में हैं। वहीं बीजेपी और आम आदमी पार्टी से करीब 100 बागी मैदान में हैं। साल 2012 के चुनावों में मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच था। चुनावों में बीजेपी को भारी बहुमत मिला। 272 सीटों में से बीजेपी को 138 सीटें और कांग्रेस को 77 सीटें हासिल हुई थीं। वहीं बीएसपी ने 15 सीटें जीती थीं. वहीं इस बार के चुनावों में आम आदमी पार्टी और स्वराज पार्टी के आ जाने के बाद मुकाबला दिलचस्प बना हुआ है।

राज्य चुनाव आयुक्त एस के श्रीवास्तव ने दावा किया कि जिस ईवीएम-1 का इस्तेमाल होने जा रहा है उसमें गड़बड़ी और छेड़छाड़ की कोई गुंजाइश नहीं है। उन्होंने बताया कि ईवीएम-1 मशीनों को उम्मीदवार और उनके प्रतिनिधियों के सामने भी जांचा गया है. तीनों एमसीडी में कुल मतदाता करीब 1 करोड़ 34 लाख 23 हजार 783 हैं। करीब 1 लाख कर्मचारी मतदान केंद्र पर मौजूद रहेंगे।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.