मेट्रो मैन ने केजरीवाल की मुफ्त यात्रा योजना को बताया गलत, PM को लिखा पत्र

मेट्रो मैन ने केजरीवाल की मुफ्त यात्रा योजना को बताया गलत, PM को लिखा पत्र

लखनऊ। मेट्रो के पूर्व चीफ ई श्रीधरन ने दिल्‍ली मेट्रो में महिलाओं को फ्री राइड देने के फैसले को गलत बताया है। उन्‍होंने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा है। उन्‍होंने अपने पत्र में दिल्ली सरकार के इस फैसले को नुकसानदायक बताते हुए इसे लागू होने से रोकने की बात की है।

श्रीधरन ने कहा है कि दिल्ली मेट्रो का सिस्‍टम अन्‍य शहरों के द्वारा भी फॉलो किया जाता है। ऐसे में इस फैसले के लागू होने से दूसरे शहरों में भी ऐसी मांग उठेगी, जिससे काफी नुकसान होगा। श्रीधरन ने कहा कि अगर महिलाओं को मुफ्त में सफर करने की योजना को लागू किया गया तो समाज के अन्य वर्ग के लोग भी फ्री में सफर करने की मांग कर सकते हैं।

श्रीधरन ने कहा कि भविष्य में मेट्रो लाइन भी बढ़ाई जाएगी, जिसके लिए ज्यादा पैसों की आवश्यकता होगी। ऐसे में इस तरह के फैसले सही नहीं हैं। उन्‍होंने कहा, दिल्ली मेट्रो केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार का ज्वाइंट वेंचर है, इसलिए कोई भी सरकार एकतरफ मेट्रो में मुफ्त सफर का निर्णय नहीं ले सकती।

इसलिए बताया गलत

दिल्ली मेट्रो के पूर्व प्रमुख ई. श्रीधरन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह पत्र 10 जून को लिखा था। उन्‍होंने 23 दिसंबर 2002 का जिक्र करते हुए कहा है कि उस रोज शाहदरा से कश्मीरी गेट तक पहली बार मेट्रो चली थी। उस दिन खुद मौजूदा प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने टिकट लेकर मेट्रो में सफर किया था। मेट्रो के शुरू होने के वक्‍त ही यह निर्णय लिया गया था कि किराए में किसी को छूट नहीं दी जाएगी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top