Top

दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली संभावित दावेदारों में शामिल मोदी

दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली संभावित दावेदारों में शामिल मोदीवर्ष 2015 में भी दुनिया के सबसे ज्यादा प्रभावशाली लोगों में से एक रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

न्यूयॉर्क (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रतिष्ठित टाइम पत्रिका की दुनिया के 100 सबसे ज्यादा प्रभावशाली लोगों की वार्षिक सूची के लिए संभावित दावेदारों में शामिल हैं।

टाइम अगले महीने सूची की घोषणा करेगी, जिसमें प्रमुख कलाकार, नेता, सांसद, वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकी और उद्योग जगत के नेता शामिल होते हैं। पत्रिका ने पाठकों से संभावित दावेदारों की सूची में शामिल लोगों के लिए वोट देने के लिए कहा है। हालांकि उसके संपादक इस सूची में शामिल होने वाले लोगों पर अंतिम फैसला लेंगे।

मोदी पिछले साल भी टाइम पत्रिका के 100 सर्वाधिक प्रभावशाली लोगों की सूची के संभावित दावेदारों में शामिल हुए थे। वह वर्ष 2015 में दुनिया के 100 सबसे ज्यादा प्रभावशाली लोगों में से एक थे और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने पत्रिका में उनके लिए प्रोफाइल लिखा था। पिछले वर्ष तत्कालीन आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा, गूगल के भारतीय मूल के सीईओ सुंदर पिचई और भारतीय ई-वाणिज्यिक कंपनी फ्लिपकार्ट के संस्थापक बिन्नी बंसल और सचिन बंसल टाइम की 100 सबसे ज्यादा प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल थे।

इस वर्ष संभावित दावेदारों में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, उनकी बेटी इवांका ट्रंप और उनके पति व वरिष्ठ व्हाइट हाउस सलाहकार जारेड कुश्नर, कैलिफोर्निया से सीनेटर कमला हैरिस, अभिनेता रिज अहमद, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे, चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग, पोप फ्रांसिस और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो शामिल हैं। सूची में संभावित दावेदारों में व्हाइट हाउस चीफ ऑफ स्टाफ रीन्स प्रीबस, अभिनेता अमी शूमर, यूट्यूब सीईओ सुजैन वोज्सिकी और ट्रंप के सलाहकार केलीन कॉनवे भी शामिल हैं।

न्यू इंडिया 125 करोड़ भारतवासियों का सपना: मोदी

नई दिल्ली (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि 125 करोड़ भारतवासी चाहते हैं कि भारत में बदलाव आए। उन्होंने कहा कि 'न्यू इंडिया' कोई सरकारी योजना नहीं है, यह 125 करोड़ भारतीयों का सपना है। पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत के बाद अपने पहले 'मन की बात' कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि हर भारतीय नागरिक के छोटे-छोटे और मजबूत कदमों से एक नए और बदले हुए भारत की कल्पना को साकार किया जा सकता है।

मोदी ने कहा, ‘हम 21वीं सदी में हैं और कोई भारतीय नहीं है जो भारत में बदलाव नहीं लाना चाहता। 'न्यू इंडिया' न ही कोई सरकारी योजना है और न ही यह किसी राजनीतिक दल का घोषणापत्र है। यह 125 करोड़ भारतीयों की इच्छा है कि देश में बदलाव आए।’ उन्होंने कहा, ‘सब कुछ बजट या सरकारी धन से ही नहीं जुड़ा। अगर हर नागरिक अपनी जिम्मेदारी और अपना दायित्व निभाने का संकल्प ले, तो उसका एक नए और बदले हुए भारत का सपना आसानी से पूरा हो सकता है।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘अगर हम समाज की ओर देखें तो कई लोग हैं, जो अपने तरीके से समाज की सेवा कर रहे हैं। कुछ लोग अस्पतालों में मरीजों की सेवा कर रहे है, कुछ स्वेच्छा से रक्तदान कर रहे हैं और कुछ गरीबों को खाना खिला रहे हैं।’ मोदी ने कहा, ‘अगर हर नागरिक संकल्प ले कि मैं यातायात के नियमों का पालन करूंगा, सप्ताह में एक बार पेट्रोल या डीजल का उपयोग नहीं करूंगा और अधिक जिम्मेदार बनूंगा और अगर हम कदम दर कदम ये सब करें तो हम एक नए भारत का अपना सपना साकार कर सकते हैं।’

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.