सुप्रीम कोर्ट से अडाणी पावर व टाटा पावर को झटका कहा, ग्राहकों से ‘क्षतिपूरक शुल्क’ नहीं वसूल सकतीं बिजली कंपनियां

सुप्रीम कोर्ट से अडाणी पावर व टाटा पावर को झटका कहा, ग्राहकों से ‘क्षतिपूरक शुल्क’ नहीं वसूल सकतीं बिजली कंपनियांसुप्रीम कोर्ट।

नई दिल्ली (भाषा)। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अडाणी पावर व टाटा पावर जैसी विद्युत कंपनियां ग्राहकों से ‘क्षतिपूर्ति शुल्क' नहीं वसूल सकतीं। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने इस बारे में अपीलीय न्यायाधिकरण के फैसले को खारिज कर दिया है।

टाटा पावर की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी कोस्टल गुजरात पावर लिमिटेड व अडाणी पावर ने इस बारे में केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग (सीईआरसी) में याचिका दायर की थी। याचिका में कहा गया था कि रुपए के अवमूल्यन व इंडोनेशिया से आयातित कोयला महंगा होने के कारण उनकी लागत बढ़ गई इसलिए उन्हें अधिक शुल्क दर वसूलने की अनुमति दी जाए। इंडोनेशिया में कोयला निर्यात पर कानून में बदलाव की वजह से लागत बढने की दलील दी गई।

न्यायाधीश पी.सी. घोष व न्यायाधीश आर एफ नरीमन की पीठ ने अपीलीय न्यायाधिकरण के फैसले व सीईआरसी के आदेश को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि कोयले के दाम में अप्रत्याशित वृद्धि से कंपनियां अपने अनुबंध के अनपालन से मुक्त नहीं हो जातीं हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि चूंकि कंपनियों ने विद्युत वितरण के लिए बोली पेश करते समय जानते बूझते जोखिम लिया था इसलिए वे अनुबंध के दायित्वों से पीछे नहीं हट सकतीं। अदालत ने कहा कि बिजली वितरण कंपनियों के साथ किए गए विद्युत खरीद समझौते में जो मूल बात है वह यथावत है और समझौते में कहीं भी यह नहीं कहा गया है कि कोयले का आयात केवल इंडोनेशिया से ही एक खास दाम पर किया जाना है।

दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

राजस्थान, पंजाब व महाराष्ट्र की कुछ बिजली वितरण कंपनियों ने बिजली न्यायाधिकरण के फैसले को चुनौती देते हुए शीर्ष अदालत का दरवाजा खटखटाया था। न्यायाधिकरण ने कहा था कि बिजली उत्पादक कंपनियां भरपाई शुल्क वसूल सकती हैं. न्यायाधिकरण ने इस मामले को शुल्क की गणना के लिए सीईआरसी के पास भेजा था।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शेयर बाजारों में अडाणी पावर व टाटा पावर के शेयर में 16 प्रतिशत तक गिरावट देखने को मिली। बीएसई में अडाणी पावर का शेयर 16.12 प्रतिशत तक लुढ़कने के बाद 37.20 रुपए प्रति शेयर बंद हुआ। वहीं टाटा पावर का शेयर कारोबार के दौरान 6.65 प्रतिशत तक टूटा और अंत में 1.95 प्रतिशत की गिरावट दिखाता हुआ 81.30 रुपए प्रति शेयर बंद हुआ।

Share it
Share it
Share it
Top