राजनाथ की सभी मुख्यमंत्रियों से अपील, देश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें 

राजनाथ की सभी मुख्यमंत्रियों से अपील,  देश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह।

नई दिल्ली (भाषा)। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज सभी राज्यों से कहा है कि वे देश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू्-कश्मीर के बाहर कश्मीरी युवाओं को प्रताड़ित करने की कथित घटनाओं की निंदा करते हुए आज सभी राज्यों से कहा कि वे देश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

गृहमंत्री ने यहां संवाददातांओं से कहा, ‘‘मुझे पता चला है कि कुछ स्थानों पर कश्मीरियों के साथ दुर्व्यवहार की घटनाएं हुई हैं, मैं सभी मुख्यमंत्रियों से अपील करता हूं कि वे अपने राज्यों में कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।'' उन्होंने कहा, ‘‘मैं सभी से अपील करता हूं कि वे कश्मीरी युवाओं को अपना भाई समझें और उनके साथ अच्छा व्यवहार करें।''

गृहमंत्री ने कहा कि उनके मंत्रालय की ओर से सभी राज्यों को वहां रह रहे कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक परामर्श भेजा जा रहा है। सिंह का यह बयान उन खबरों के मद्देनजर आया है जिसमें कहा गया है कि राजस्थान एवं उत्तर प्रदेश में कश्मीरी छात्रों को कथित रुप से धमकियां मिल रही हैं।

इन घटनाओं की निंदा करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि हर मामले में उचित जांच शुरु की जानी चाहिए और दोषियों के खिलाफ कठोरतम कदम उठाया जाना चाहिए। सिंह ने कहा कि कश्मीरी किसी भी अन्य भारतीय की ही तरह हैं।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

राजनाथ ने कहा, ‘‘कश्मीर की जनता का राष्ट्रनिर्माण में योगदान बहुत अधिक है, वे किसी भी अन्य भारतीय की तरह हैं, मैं हर किसी से अपील करता हूं कि वे कश्मीरी युवाओं को अपना भाई मानें और उनके साथ अच्छा व्यवहार करें। वे परिवार का हिस्सा हैं।''

राजस्थान से आई खबरों में कहा गया कि बुधवार को चित्तौडगढ़ में कुछ स्थानीय लोगों और मेवाड विश्वविद्यालय के कश्मीरी छात्रों के बीच झड़प के बाद तनाव पैदा हो गया था। दोनों पक्षों के बीच झड़प तब शुरू हुई, जब कश्मीरी छात्रों को कथित तौर पर ‘पत्थरबाज' कहकर पुकारा गया और कश्मीर घाटी में सीआरपीएफ के जवान के साथ बदसलूकी के वीडियो को लेकर तंज कसा गया।

इसके अलावा मेरठ में कुछ ऐसे होर्डिंग भी सामने आए हैं, जिनमें कश्मीरी छात्रों से उत्तरप्रदेश छोडने के लिए कहा गया है।

Share it
Top