बांग्लादेश प्रधानमंत्री शेख हसीना भारत पहुंची, मोदी ने प्रोटोकॉल के विपरीत हवाईअड्डे पर खुद किया स्वागत

बांग्लादेश  प्रधानमंत्री शेख हसीना भारत पहुंची,  मोदी ने प्रोटोकॉल के विपरीत  हवाईअड्डे पर खुद किया स्वागतबांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना का स्वागत करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

नई दिल्ली (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के स्वागत के लिए प्रोटोकॉल के विपरीत आज यहां आईजीआई हवाईअड्डा पर खुद पहुंचे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हवाईअड्डे जाने के लिए कोई विशेष व्यवस्था नहीं की गई थी और वह सामान्य यातायात के बीच हवाईअड्डा पहुंचे।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री चार दिन की यात्रा पर यहां आई हैं, उनकी यह यात्रा सात वर्ष के अंतराल के बाद हो रही है। हसीना कल मोदी के साथ विभिन्न मुद्दों पर बातचीत करेंगी और इस दौरान भारत बांग्लादेश को सैन्य आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिए 50 करोड़ डॉलर का कर्ज देने की घोषणा कर सकता है।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना।

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री हसीना चार दिवसीय भारत यात्रा पर नई दिल्ली पहुंची

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना आज भारत की चार दिन की यात्रा पर नई दिल्ली पहुंच गई हैं। हसीना की यात्रा के दौरान असैन्य परमाणु सहयोग एवं रक्षा समेत कम से कम 25 द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना है।

करीब सात वर्ष के बाद हसीना भारत गई हैं, यात्रा के दौरान हसीना भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कल विभिन्न विषयों पर बातचीत करेंगी और इस दौरान भारत बांग्लादेश को सैन्य आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिए 50 करोड़ डॉलर का कर्ज देने की घोषणा कर सकता है।

इससे पहले दोनों देशों की ओर से जारी संयुक्त बयान में कहा गया था, ‘‘बांग्लादेश की प्रधानमंत्री की आगामी यात्रा से भारत एवं बांग्लादेश के बीच सौहार्दपूर्ण एवं सहयोग संबंधों का और विस्तार होने की संभावना है और इससे दोनों नेताओें के बीच मजबूत मैत्री संबंधों एवं विश्वास का निर्माण होगा।''

हसीना राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से और विपक्ष की नेता सोनिया गांधी से भी मुलाकात करेंगी। रविवार को वह अजमेर जाएंगी और सोमवार को भारतीय कारोबारियों से मिलेंगी।

वर्ष 1971 में बांग्लोदश के ‘मुक्ति संग्राम' में शहीद हुए भारतीय सेना के जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिये मानेकशॉ सेंटर में आयोजित एक कार्यक्रम में भी वह शिरकत करेंगी।

दोनों पक्षों के कूटनीतिज्ञों को आशा है कि बांग्लादेश की प्रधानमंत्री की यात्रा ढाका-नई दिल्ली के ‘‘ऐतिहासिक रिश्ते'' को नए मुकाम तक ले जाएगी और इससे कारोबार एवं वाणिज्य, अर्थव्यवस्था एवं आपसी संपर्क समेत विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग के नये आयाम खुलेंगे।

प्रधानमंत्री पद पर अपने इस कार्यकाल के दौरान हसीना की यह पहली द्विपक्षीय भारत यात्रा होगी। मोदी और हसीना के बीच वार्ता के दौरान रक्षा क्षेत्र में सहयोग बढाने पर विशेष जोर दिया जाएगा और इसके अलावा बांग्लादेश को 50 करोड़ डॉलर का कर्ज देने से संबंधित एक सहमति ज्ञापन पर भी हस्ताक्षर किए जाएंगे। इसके साथ ही नियमित रक्षा भागीदारी से संबंधित एक अन्य समझौते को भी औपचारिक रूप दिए जाने की संभावना है।

मोदी एवं हसीना के बीच वार्ता के दौरान तीस्ता समझौते पर उत्पन्न गतिरोध के अलावा आतंकवाद, कट्टरपंथ पर विराम लगाने और दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग में इजाफा करने जैसे मुद्दों के प्रमुखता से उठने की संभावना है।

हसीना के साथ आया प्रतिनिधिमंडल

हसीना की यात्रा के दौरान बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम मामलों के मंत्री एकेएम मोजम्मल हक, जल संसाधन मंत्री अनीसुल इस्लाम महमूद, कानून मंत्री अनीसुल हक, विदेश मंत्री एएच महमूद अली, प्रधानमंत्री के आर्थिक मामलों के सलाहकार मोशिउर रहमान और विदेश मामलों के राज्य मंत्री शहरयार आलम भी उनके साथ भारत जा रहे हैं।

Share it
Top