भारत छोड़ो की वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, भारत को गरीबी, गंदगी और सांप्रदायिकता से आजाद करने का संकल्प लें 

भारत छोड़ो की वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, भारत को गरीबी, गंदगी और सांप्रदायिकता से आजाद करने का संकल्प लें लोकसभा में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। ऐतिहासिक 'भारत छोड़ो' आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को इस आंदोलन में शामिल रहे स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हुए देशवासियों से भारत को गरीबी, भ्रष्टाचार और आतंकवाद से मुक्त कराने की प्रतिज्ञा लेने का आग्रह किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, "ऐतिहासिक भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर हम इस आंदोलन में भाग लेने वाले सभी महान पुरुषों और महिलाओं को सलाम करते हैं।"

प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के उद्देश्य को पूरा करने के लिए पूरा देश महात्मा गांधी के नेतृत्व में एक साथ आया।

मोदी ने ट्विटर पर लिखा, "1942 में, भारत को उपनिवेशवाद से आजाद करने की आवश्यकता थी। आज 75 साल बाद, अलग तरह के मुद्दे हैं।" उन्होंने कहा, "चलें, भारत को गरीबी, गंदगी, भ्रष्टाचार, आतंकवाद, जातिवाद और सांप्रदायिकता से आजाद करने का संकल्प लें और 2022 तक हमारे सपनों के 'नए भारत' का निर्माण करें।"

मोदी ने देश के लोगों से 'ऐसे नए भारत के निर्माण के लिए कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करने का आग्रह किया, जिस पर हमारे स्वतंत्रता सेनानी गर्व करते।'

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

महात्मा गांधी ने 8 अगस्त, 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन का आह्वान किया था। भारत से ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन को उखाड़ फेंकने के लिए देशवासी इस आंदोलन में साथ आए थे।

Share it
Share it
Share it
Top