बेरोजगारों के लिए खुशखबरी : वर्ष 2018 में मिलेंगे रोजगार के ढेर सारे अवसर  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   13 Feb 2018 6:50 PM GMT

बेरोजगारों के लिए खुशखबरी : वर्ष 2018 में मिलेंगे रोजगार के ढेर सारे अवसर  रोजगार मेले में पहुंचे आवेदक। फाइल फोटो

नयी दिल्ली। एक सर्वेक्षण बताता है कि वर्ष 2018 में देश में रोजगार के अवसर बढ़ने की भी संभावना है। वैसे वर्ष 2014 में देश में नौकरी हासिल करने लायक आबादी का प्रतिशत मात्र 33 था जो इस साल बढ़कर 45.60 प्रतिशत हो गया है। करीब 12.60 की बढ़ोत्तरी हुई जो ठीक नहीं है।

मानव संसाधन क्षेत्र की प्रमुख तकनीकी कंपनी पीपुल स्ट्रांग और भारतीय उद्योग परिसंघ (सीसीआई) के सहयोग से वैश्विक स्तर पर योग्यता का आकलन करने वाली कंपनी व्हीबॉक्स ने अपनी इंडिया स्किल्स रिपोर्ट-2018 में यह आकलन पेश किया है।

ये भी पढ़ें- अगर साड़ी नहीं पहननी आती तो आपको शर्म आना चाहिए, एक मशहूर डिजाइनर का तंज

इस रपट को तैयार करने के लिए व्हीबॉक्स ने एक समग्र योग्यता मांग टेस्ट और आपूर्ति रपट को संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई), भारतीय विश्वविद्यालय संघ और विभिन्न राज्य सरकारों के साथ साझा किया, जिसका उन्होंने समर्थन किया। रपट को तैयार करने के लिए इस टेस्ट का 5200 विश्वविद्यालय और पेशेवर संस्थानों में प्रसार किया गया। साथ ही नियोक्ताओं का रुख जानने के लिए 12 प्रमुख उद्योगों के 120 से ज्यादा नियोक्ताओं के बीच प्राथमिक शोध सर्वेक्षण किया गया।

ये भी पढ़ें- ऐसे जाने, ग्राम पंचायत को कितना मिला पैसा, और कहां किया गया खर्च

व्हीबॉक्स की इस रपट के अनुसार वर्ष 2014 में नौकरी हासिल करने योग्य आबादी का प्रतिशत मात्र 33 फीसदी था। इस साल नौकरी हासिल करने योग्य आबादी का प्रतिशत 45.60 फीसदी तक पहुंच गया। यह हाल के कुछ वर्षोँ में व्यापक बदलाव को दिखाता है। इसमें भी रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी वाले प्रमुख क्षेत्र इंजीनियरिंग, दवा, कंप्यूटर एप्लीकेशन में परास्नातक और अन्य पेशेवर पाठ्यक्रम से संबद्ध हैं।

ये भी पढ़ें- खेती करते हुए लगी चोट तो मिलेंगे 3 हजार से 60 हजार तक रुपए , जानिए कैसे 

सर्वेक्षण के मुताबिक इस साल विभिन्न क्षेत्रों में मौजूद कंपनियों के उम्मीदवारों को भर्ती करने के मामले में पिछले साल के मुकाबले 10 से 15 फीसदी बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। इसमें खुदरा, बैंकिंग, वित्तीय सेवा एवं बीमा क्षेत्र में उम्मीदवारों की भर्ती बढ़ने की उम्मीद है। यह रपट तैयार करने में रोजगार सृजन पर ऑटोमेशन के प्रभाव को समझने पर भी ध्यान दिया गया है। रपट के अनुसार नवोन्मेष से नए-नए क्षेत्रों नई नौकरियां पनपेंगी।

ये भी पढ़ें- घर बैठे पाएं 450 से ज़्यादा फसलों की खेती करने के तरीके और हज़ारों मंडियों के भाव

सर्वेक्षण में भाग लेने वाले 69 फीसदी लोगों ने साफतौर पर माना कि ऑटोमेशन का प्रभाव रोजगार पर पड़ा है, 24 फीसदी नियोक्ताओं ने यह संकेत दिया कि भविष्य में आकलन (एनालिटक्सि) क्षेत्र में रोजगार बढ़ेंगे, जबकि 15 फीसदी ने उम्मीद जताई कि भविष्य में कृत्रिम समझ (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस-एआई) के क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

ये भी पढ़ें- खुशखबरी : देश के वनक्षेत्र में 8 हजार वर्ग किमी का इजाफा 

व्हीबॉक्स के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी निर्मल सिंह ने कहा, इस साल इंडिया स्किल्स रिपोर्ट में रोजगार मिलने के अवसरों में बढ़ोतरी देखी गई, जो अर्थव्यवस्था के लिए एक अच्छा संकेत है। उच्च और पेशेवर प्रशिक्षण संस्थानों में कौशल विकास के प्रति सरकार के प्रयास अच्छी गुणवत्ता वाले उम्मीदवारों की भर्ती का रास्ता तैयार कर रहे हैं।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा कि इसके अलावा सरकार और संस्थानों के प्रयास में भी एक सकारात्मक रुख नजर आ रहा है। एआई, रोबोटिक्स और डाटा एनालिटिक्स के क्षेत्रों से यह संकेत मिल रहा है कि इन क्षेत्रों में करियर बनाने के नए अवसरों में उछाल आने की उम्मीद है।

इनपुट भाषा

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top