एक और भारतीय परिवार की मदद को आई सुषमा स्वराज, मलेशिया में छुट्टी के बावजूद  खुलवाया भारतीय दूतावास 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   28 Oct 2017 4:22 PM GMT

एक और भारतीय परिवार की  मदद को आई सुषमा स्वराज,  मलेशिया में छुट्टी के बावजूद  खुलवाया भारतीय दूतावास विदेश मंत्री सुषमा स्वराज।

नई दिल्ली (भाषा)। संकट में घिरे व्यक्तियों की मदद की गुहार पर एक बार फिर त्वरित प्रतिक्रिया करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज कुआलालंपुर के एक भारतीय परिवार की मदद के लिए आगे आयीं। विदेश मंत्री से कुआलालंपुर में एक भारतीय परिवार ने मदद मांगी थी, जिसके जवाब में उन्होंने कुआलालंपुर स्थित भारतीय दूतावास को परिवार की मदद करने का निर्देश दिया और सप्ताहांत में अवकाश होने के बावजूद दूतावास को भारतीय परिवार को यात्रा दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिये कहा।

सुषमा की यह प्रतिक्रिया किसी मीरा रमेश पटेल की गुहार पर आई थी। मीरा ने सुषमा स्वराज से दखल देने की मांग करते हुए कहा था कि उनका परिवार हवाईअड्डा पर है और उनका पासपोर्ट खो गया है। मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, मलेशिया में भारतीय दूतावास : यह एक आपात मामला है, कृपया दूतावास खोलें और भारतीय परिवार की मदद करें।

सुषमा के अनुरोध के जवाब में मलेशिया स्थित भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया कि परिवार के सदस्यों से संपर्क कर लिया गया है और मामला सुलझाया जा रहा है।

इससे पहले केंद्रीय मंत्री को किये अपने ट्वीट में मीरा ने लिखा, सुषमा स्वराज मैम मेरा परिवार मलेशिया हवाईअड्डा पर है और उनका पासपोर्ट खो गया है, सप्ताहांत होने के कारण भारतीय दूतावास बंद है, कृपया मदद करें।

एक अन्य मामले में विदेश मंत्री ने वाशिंगटन स्थित भारतीय दूतावास से अपना पासपोर्ट खो चुकी एक भारतीय छात्र की मदद करने का अनुरोध किया।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

एक ट्वीट में अनुषा धुलिपाला ने बताया कि वह अमेरिका में पढ़ती है और उसका पासपोर्ट खो चुका है, जिसके कारण वह कहीं यात्रा नहीं कर सकती। उसने लिखा, सुषमा स्वराज मुझे वाकई में आपकी मदद की जरुरत है क्योंकि उनका कहना है कि मुझे अपना वीजा लाने के लिये भारत जाना होगा और इस वक्त मेरी परीक्षाएं चल रही हैं और मैं बिना पासपोर्ट के जल्द यात्रा नहीं सकती।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top