अमरनाथ श्राइन बोर्ड को एनजीटी की फटकार

अमरनाथ श्राइन बोर्ड को एनजीटी की फटकारप्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए एनजीटी का रुख इन दिनों काफी सख्त हो गया है।

लखनऊ। प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) का रुख इन दिनों काफी सख्त हो गया है। एनजीटी ने दक्षिण कश्मीर में हिमालय में स्थित पवित्र गुफा तक जाने वाले तीर्थयात्रियों को उचित बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराने के लिए आज अमरनाथ श्राइन बोर्ड को फटकार लगाई।

ये भी पढ़ें- अब एक दिन में 50,000 भक्त ही कर पाएंगे माता वैष्णों देवी के दर्शन: एनजीटी

एनजीटी ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा वर्ष 2012 में दिए गए निर्देशों का अनुपालन नहीं करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बोर्ड से पूछा कि इन वर्षों में उसने इस बारे में क्या कदम उठाए हैं।यह भी कहा कि गुफा के आसपास पूजा के रूप में चढ़ाने वाली चीजें ना फेंकी जाएं। साथ ही हिमस्‍खलन से बचने के लिए अमरनाथ मंदिर के आसपास के क्षेत्र को 'साइलेंस जोन' घोषित करने का सुझाव भी दिया।

ये भी पढ़ें- डीटीसी बसें बहुत शोर मचाती हैं, वह बेहद परेशान करती हैं : एनजीटी

गौरतलब है कि इससे पहले एनजीटी ने पर्यावरण सुरक्षा और अधिकारियों का भार कम करने के लिए मां वैष्‍णो देवी के दर्शन को जाने वाले यात्रियों की संख्‍या नियंत्रित कर एक दिन में 50 हजार कर दी थी। वहां निर्माण संबंधी गतिविधियों को रोकने का भी निर्देश दिया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top