जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने पर जानिए किसने क्या कहा ?

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने पर जानिए किसने क्या कहा ?

लखनऊ।मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को राज्यसभा में संकल्प पत्र पेश कर हटा दिया है। इसके बाद से जम्मू कश्मीर अब केंद्र शासित प्रदेश बन गया है साथ ही जम्मू कश्मीर को मिले विशेषाधिकार भी खत्म हो गए है। लद्दाख को भी कश्मीर से अलग कर एक नया केंद्रशासित प्रदेश बना दिया गया है। जानिए केंद्र सरकार के इस फैसले पर किसने क्या कहा ?

इस दौरान सुब्रह्मण्यम स्वामी ने ट्वीट कर कहा कि मैं सही साबित हुआ। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के लिए संविधान में बदलाव की जरूरत नहीं थी। अमित शाह ने प्रस्ताव के तहत संसद को इस बार बारे में सूचित किया जिसपर राष्ट्रपति से पहले मंजूरी मिल चुकी थी। आज आर्टिकल 370 खत्म हुआ साथ ही अनुच्छेद 35 A भी।

शिवसेना के आदित्य ठाकरे ने भी केंद्र सरकार के इस फैसले पर खुशी जताई है। उन्होंने कहा कि भारत के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। कश्मीर आज से पूरी तरह भारत का हिस्सा है। यहां से सुरक्षित और प्रगतिशील कश्मीर बनने की शुरूआत होती है।

लद्दाख से बीजेपी सांसद जम्यांग टसरिंग नामग्याल ने कहा कि लद्दाख के सभी लोगों की तरफ से मैं सरकार के इस बिल का स्वागत करता हूं। लद्दाख की जनता क्षेत्र को केंद्र शासित प्रदेश के रूप में देखना चाहती थी।

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी अनुच्छेद 370 हटाने पर सरकार को बधाई देते हुए कहा कि सरकार का यह निर्णय बेहद ही साहसिक और ऐतिहासिक है।

ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर मामला: जानिए क्‍या है आर्टिकल 370

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी सरकार के इस फैसले पर साथ होने की बात कही है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि सरकार के इस फैसले से कश्मीर में शांति ओर विकास का आगाज होगा।

मोदी सरकार में वित्त मंत्री रह चुके अरूण जेटली ने कहा कि सरकार का अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला राष्ट्रीय एकता के लिए ऐतिहासिक कदम साबित होगा।

डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा कि कहा कि अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला जम्मू कश्मीर की जनता से बातचीत कर नहीं लिया गया है। लोकतंत्र की हत्या हुई है।

एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि सरकार को यह फैसला लेने से पहले घाटी के नेताओं को विश्वास में लेना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया।

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने सरकार के फैसले पर आपत्ति जताते हुए कहा कि एक सीमावर्ती राज्य जो सांस्कृतिक, भगौलिक, ऐतिहासिक और राजनीतिक रूप से अनुच्छेद 370 के अंतर्गत जुड़ा हुआ था। बीजेपी सरकार ने सत्ता के मद में कश्मीर को तीन-चार चीजों में बिखेर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि राजनीतिक पार्टियां कश्मीर की लड़ाई लड़ती रहेंगी।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top