खाने के बिल पर BJP के आरोपों को आप ने नकारा

खाने के बिल पर BJP के आरोपों को आप ने नकारामनीष सिसोदिया, उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री, दिल्ली

नई दिल्ली (भाषा)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा सरकारी खर्चे पर दावत में फिजूलखर्ची करने के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के आरोपों को आम आदमी पार्टी सरकार ने निराधार बता कर खारिज कर दिया। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केजरीवाल द्वारा दावत में 12 से 16 हजार रपये प्रति प्लेट कीमत का खाना खिलाने के नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता के आरोपों को गलत बताया।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

सिसोदिया ने कहा कि एक साल पहले अफसरों ने 13 रुपये प्रति प्लेट कीमत के खाने के बिल की फाइल मेरे पास मंजूरी के लिये भेजी थी, लेकिन मैंने इसे मंजूरी देने से मना कर दिया था। उन्होंने कहा कि छह महीने पहले यह फाइल पूर्व उपराज्यपाल नजीब जंग ने तलब की थी। तब से यह फाइल राजनिवास में पड़ी है।

आम आदमी पार्टी की पहली सालगिरह पर 12000 रुपए की परोसी गई थाली

सिसोदिया ने पिछले कुछ दिनों से हो रहे इस तरह के खुलासों के पीछे राजनिवास को भी निशाने पर लेते हुये कहा कि खाने के बिल की फाइल छह महीने से जानबूझ कर चुनाव के समय लीक करने के लिये उपराज्यपाल कार्यालय में रोक कर रखी गयी थी। सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि एलजी ऑफिस के अफसर भाजपा के इशारे पर सरकार को बदनाम करने के लिये आधी जानकारी के साथ फाइलें लीक कर रहे हैं।''

उन्होंने कहा कि लीक किये गये दस्तावेजों में यह नहीं बताया गया है कि दस महीने पहले बिल के भुगतान को रोकने के लिये उन्होंने फाइल पर क्या लिखा था। सिसोदिया ने भाजपा को इस मामले से जुड़ी पूरी फाइल और इस पर उनके नोट को भी सार्वजनिक करने की चुनौती दी। गुप्ता ने पिछले साल मुख्यमंत्री आवास पर आप कार्यकर्ताओं के लिये आयोजित एक भोज में 12 हजार और 16 हजार रपये प्रति प्लेट खर्च करने का पिछले दिनों खुलासा करते हुए केजरीवाल सरकार पर सरकारी खजाने के अपव्यय का आरोप लगाया है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top