Top

भारतीय रेलवे मलेशिया के साथ मिलाकर स्टेशनों का करेगा कायाकल्प, शॉपिंग मॉल-मल्टीप्लेक्स की मिलेगी सुविधा 

भारतीय रेलवे मलेशिया के साथ मिलाकर स्टेशनों का करेगा कायाकल्प, शॉपिंग मॉल-मल्टीप्लेक्स की मिलेगी सुविधा स्टेशनों के पुनर्विकास कार्य के तहत प्लेटफार्म के साथ-साथ आसपास के इलाकों का भी होगा कायाकल्प।

नई दिल्ली (भाषा)। भारतीय रेल देश में दूसरी श्रेणी के शहरों में स्थित अपने कम से कम 20 स्टेशनों का कायाकल्प करने के लिये मलेशिया के साथ हाथ मिलाने की योजना बना रही है।

देशभर में रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास कार्य में निजी क्षेत्र से करीब एक लाख करोड़ रुपये के निवेश को आकर्षित किये जाने की योजना है। स्टेशनों के पुनर्विकास कार्य के तहत प्लेटफार्म को आधुनिक बनाने के साथ साथ उनके आसपास के इलाके का कायाकल्प करना शामिल है।

स्टेशनों पर होगे होटल, रेस्त्रां, शापिंग मॉल

पुनर्विकास कार्य में स्टेशनों में उपलब्ध स्थानों पर होटल, रेस्त्रां, मल्टीप्लेक्स, शॉपिंग मॉल और कार्यालय परिसर आदि विकसित किये जायेंगे। ये परिसर डेवलपर्स को 45 साल के इस्तेमाल के लिये दिये जायेंगे।

शहरों के व्यवसाय में तेजी लाना मकसद

देश के दूसरी श्रेणी के इन शहरों को विकसित करने के लिये केंद्र, राज्य और स्थानीय सरकारों की तरफ से काफी समर्थन दिया जा रहा है। वह चाहते हैं कि इन शहरों को देश के सबसे तेजी से वृद्धि करने वाले शहरों में बदला जाये और व्यावसाय के लिये उपयुक्त स्थान बनाया जाये।

मलेशिया के साथ की जाएगी भागीदारी

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा सरकार के स्तर पर मलेशिया के साथ एक दीर्घकालिक भागीदारी स्थापित की जायेगी और उसके आधार पर इस दक्षिण पूर्वी एशिया स्थित देश को 20 स्टेशनों के कायाकल्प की पेशकश की जायेगी।

रेलवे एक लाख करोड़ रुपये करेगा निवेश

रेलवे पहले ही इस महत्वकांक्षी परियोजना को शुरू कर चुका है जिसमें उसने एक लाख करोड़ रुपये के निवेश से देशभर में कुल मिलाकर 400 स्टेशनों को सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) के तहत विकसित करने की योजना बनाई है।

इन स्टेशनों का होगा कायाकल्प

रेलवे ने जो लिस्ट तैयार की है उसमें जिन स्टेशनों का कायाकल्प होगा उनमें पुणे, थाने, विशाखापट्टनम, कामाख्या, जम्मू तवी, उदयपुर सिटी, सिकंद्राबाद, विजयवाड़ा, रांची, कोजिकोड, यशवंतपुर, बंगलुरू कैंट, भोपाल जंक्शन, बांद्रा टर्मिनस, बोरीवली और इंदौर शामिल है। भोपाल में मौजूद हबीबगंज रेलवे स्टेशन को पहले ही पीपीपी मॉडल पर विकसित करने के लिए प्राइवेट कंपनी को दिया जा चुका है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.