राजस्थान: तूफान से रामकथा का पंडाल गिरा, 15 लोगों की मौत, CM ने दिए जांच के आदेश

राजस्थान: तूफान से रामकथा का पंडाल गिरा, 15 लोगों की मौत, CM ने दिए जांच के आदेश

लखनऊ। राजस्‍थान के बाड़मेर में अचानक आई बारिश और तूफान की वजह से रामकथा का पंडाल गिर गया। इस हादसे में 15 लोगों की मौत हो गई है , वहीं लगभग 50 लोग घायल हैं। जानकारी के मुताबिक, बारिश की वजह से पंडाल में करंट भी फैल गया था, जिसकी वजह से लोगों को मौत हुई है।

जब पंडाल गिरा उस समय रामकथा सुन रहे लोगों में भगदड़ मच गई। बताया जा रहा है कि यह हादसा इतनी तेजी से हुआ कि लोगों को सम्‍हलने का मौका नहीं मिला। हादसे के बाद घटनास्‍थल पर अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। सूचना मिलते ही स्‍थानीय प्रशासन ने घटनास्‍थल पर पहुंच कर राहत-बचाव कार्य शुरू किया। सीएम अशोक गहलोत ने जोधपुर संभागीय आयुक्त बीएल कोठारी को घटना की जांच सौंपी है। सीएम के सोमवार को बाड़मेर जाने की भी संभावना है।

इस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, देश के गृहमंत्री अमित शाह समेत कई नेताओं ने दुख जताया है। हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, 'राजस्थान के बाड़मेर में पंडाल का गिरना दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं और मैं घायलों के शीघ्र स्‍वस्‍थ्‍य होने की कामना करता हूं।'

वहीं, राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने घटना पर ट्वीट किया, 'राजस्थान के बाड़मेर में पंडाल गिरने की घटना के बारे में जानकर दुख हुआ। मृतकों के परिजनों के प्रति मेरी शोक संवेदना और घायलों के जल्‍द स्‍वस्‍थ्‍य होने की कामना करता हूं।'

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, ''जसोल,बाड़मेर में राम कथा के दौरान टेंट गिरने से हुए हादसे में बड़ी संख्या में लोगों की जान जाने की जानकारी अत्यंत दुखद, दुर्भाग्यपूर्ण है। ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करने, शोकाकुल परिजनों को सम्बल देने की प्रार्थना है। घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top