आखिर क्यों शत्रुघ्न सिन्हा ने टाइटैनिक के हीरो लियोनार्डो डिकैप्रियो से की सुपरस्टार रजनीकांत की तुलना

आखिर क्यों शत्रुघ्न सिन्हा ने टाइटैनिक के हीरो लियोनार्डो डिकैप्रियो से की सुपरस्टार रजनीकांत की तुलनासुपरस्टार रजनीकांत।

नई दिल्ली। सुपरस्टार रजनीकांत के राजनीति में आने के कयास तेज हो गए हैं। हर एक पार्टी उनकों शामिल करना चाहती है। वहीं बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि अगर रजनीकांत राजनीति में आना चाहते हैं तो बीजेपी में उनका स्वागत है। रजनीकांत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अच्छे संबंध हैं। वहीं इसके दूसरी तरफ शत्रुघ्न सिन्हा का कहना है कि अगर रजनीकांत को राजनीति में आना है तो उनको अगल पार्टी बनानी चाहिए।

रजनीकांत को राजनीति में आना है या नहीं इस पर आखिरी फैसला तो वह खुद ही करेंगे। हाल ही में अमित शाह ने कहा था कि अगर रजनीकांत राजनीति में आना चाहते हैं तो उनके लिए पार्टी में विशेष स्थान है। वह भाजपा के बारे में सोचें।

शत्रुघ्न सिन्हा ने तमिलनाडु के टाइटैनिक हीरो का दिया दर्जा

रजनीकांत को सलाह देते हुए बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कई ट्वीट किए। शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट किया कि तमिलनाडु के टाइटैनिक हीरो और भारत के पुत्र मेरे प्रिय रजनीकांत, राइज, राइज, राइज!! यह सबसे सही समय है। देश तुम्हारा इंतजार कर रहा है। राजनीति में आओ और राष्ट्र और अपने लोगों के भविष्य को एक नया आयाम दो। लोग आपके साथ हैं। आपका साथ देने के लिए तैयार हैं। किसी और के साथ शामिल होने से अच्छा है कि आपके साथ लोग शामिल हों। मुझे उम्मीद है कि आप अपने परिवार और साथियों से इस पर चर्चा करने के बाद एक सही फैसला लेंगे। लेकिन जल्दी कीजिए। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मैं हमेशा रजनीकांत के साथ खड़ा हूं। एक दोस्त के रूप में, एक सपोर्टर के रूप में, एक शुभ चिंतक के रूप में और एक मार्गदर्शक के रूप में। अगर मैं उनकी कोई सहायता कर सकता हूं तो आज भी मैं उनके साथ खड़ा हूं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

सुपरस्टार ने फैन्स को युद्ध के लिए तैयार रहने की कही थी बात

इसी सप्ताह की शुरुआत में सुपर स्टार रजनीकांत ने राजनीति से जुड़ी हुई एक टिप्पणी की थी। उन्होंने अपने फैन्स से युद्ध के लिए तैयार रहने की बात कही थी। उनके इस बयान के बाद खबरें आने लगी थीं कि रजनीकांत राजनीति में शामिल हो सकते हैं। ऐसा ही माहौल तब बना था जब 1996 में रजनीकांत ने तत्कालीन मुख्यमंत्री जे जयललिता के खिलाफ चुनाव प्रचार किया था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top