जानिए विपक्ष के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी के बारे में

जानिए विपक्ष के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी के बारे मेंगोपाल कृष्ण गांधी

लखनऊ। महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी को विपक्ष ने उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस पार्टी की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस बात का फैसला लिया गया। आप भी जानिए गोपाल कृष्ण के बारे में कुछ खास बातें...

  • 22 अप्रैल 1945 को जन्मे गोपाल कृष्ण गांधी देवदास गांधी और लक्ष्मी गांधी के बेटे हैं। गोपाल कृष्ण गांधी महात्मा गांधी के पोते और सी राजगोपालाचारी के नाती हैं।
  • वह एक सेवानिवृत्त आईएएस और राजनयिक हैं। इसके साथ ही वह 2004 से 2009 तक पश्चिम बंगाल के 22वें राज्यपाल भी रहे।

यह भी पढ़ें : उप-राष्ट्रपति चुनाव: विपक्षी दलों ने गोपाल कृष्ण गांधी को बनाया उम्मीदवार

  • दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफंस कॉलेज से इंग्लिश लिटरेचर में एम करने वाले गोपाल कृष्ण गांधी फिलहाल हरियाणा की अशोका यूनिर्सिटी में इतिहास और राजनीति शास्त्र के प्रोफेसर हैं।
  • गोपाल कृष्ण गांधी 1985 से 1987 तक उपराष्‍ट्रपति के सेक्रेटरी भी रहे। इसके बाद 1987 से 1992 तक राष्‍ट्रपति के ज्‍वाइंट सेक्रेटरी और 1997 में राष्‍ट्रपति के सेक्रेटरी भी रहे। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के उच्चायुक्त व कुछ अन्य प्रशासनिक और कूटनीतिक पदों पर भी अपनी सेवाएं दीं।
  • 1968 में उन्होंने तमिलनाडु राज्य में आईएएस ऑफिसर के तौर पर ज्वॉइन किया और 1985 तक यहीं रहे।
  • 1992 में उन्हें ब्रिटेन के भारतीय उच्चायोग में उन्हें सांस्कृतिक मंत्री का पद दिया गया। उन्होंने लंदन में नेहरू सेंटर के डायरेक्टर के पद भी सेवाएं दीं।
  • वे दिसंबर 2011 से मई 2014 तक कलक्षेत्र फाउंडेशन के चेन्नई के अध्यक्ष रहे। वह 5 मार्च 2012 को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड स्टडी और उसके समाज के अध्यक्ष के शासी निकाय के अध्यक्ष थे और मई 2014 तक कार्यरत थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top