#Rewari: छात्राओं के आगे झुकी हरियाणा सरकार, जारी किया स्कूल अपग्रेड का नोटिफिकेशन 

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   17 May 2017 2:58 PM GMT

#Rewari: छात्राओं के आगे झुकी हरियाणा सरकार, जारी किया स्कूल अपग्रेड का नोटिफिकेशन भूख हड़ताल पर बैंठी छात्राएं।

हरियाणा। रेवाड़ी में स्कूली छात्राओं की भूख हड़ताल को एक हफ्ते से ज्यादा हो गया। भीषण गर्मी के बीच भूख हड़ताल कर रही छात्राओं की तबीयत बिगड़ने लगी है। बुधवार को तीन छात्राओं को अस्पताल ले जाया गया। अब तक करीब 10 छात्राओं की तबीयत बिगड़ चुकी है।

वहीं दूसरी तरफ हरियाणा के शिक्षा मंत्री ने छात्राओं के इस आंदोलन को राजनीति से प्रेरित करार दिया। शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि वो इन छात्राओं से अपील करते हैं कि वह राजनीति के चक्कर में ना पड़ें। उन्होंने छात्राओं से अनशन तुरंत खत्म करने को कहा। शिक्षा मंत्री ने कहा कि स्कूल अपग्रेडेशन का काम एक प्रोसेस के तहत होगा। हालांकि इस बीच हरियाणा सरकार ने स्कूल अपग्रेडेशन का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

छात्राएं क्यों कर रही हैं अनशन

रेवाड़ी के खोल ब्लॉक के गाँव गोठड़ा टप्पा डहिना की 80 से अधिक लड़कियां बीते एक हफ्ते से अनशन पर हैं। इनकी मांग है कि गाँव के 10वीं तक के स्कूल का दर्जा बढ़ा कर सीनियर सेकेंडरी किया जाए जिससे कि वहां 12वीं तक पढ़ाई हो सके।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

हाईस्कूल के बाद की पढ़ाई के लिए जाना पड़ा है दूर

छात्राओं को 10वीं से आगे की पढ़ाई के लिए कनवली स्थित स्कूल जाना पड़ता है। ये स्कूल इनके गाँव से करीब तीन किलोमीटर दूर है।

रोज छेड़खानी का होना पड़ता है शिकार

छात्राओं के मुताबिक उन्हें रोज स्कूल आने-जाने में छेड़खानी का शिकार होना पड़ता है। गाँव के सरपंच सुरेश चौहान का कहना है कि छेड़छाड़ करने वाले शोहदे किस्म के लड़के इतने शातिर हैं कि हेलमेट पहने रखते हैं, जिससे कि उनकी पहचान ना हो सके।

घरवालों ने कहा- छोड़ दो पढ़ाई, खुद संभाला मोर्चा

लड़कियों ने अपनी परेशानी घरवालों के साथ ही सरपंच को भी बताई। घरवालों ने तो लड़कियों को यहां तक कह दिया कि स्कूल छोड़ दो। वहीं सरपंच ने मामले को स्थानीय अधिकारियों के सामने उठाया लेकिन बात नहीं बनी। आखिरकार इन लड़कियों ने खुद ही मोर्चा संभालते हुए भूख हड़ताल शुरू कर दी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top