बैंककर्मियों के संगठन ने पीएनबी घोटाला मामले में की सरकार से हस्तक्षेप की मांग

बैंककर्मियों के संगठन ने पीएनबी घोटाला मामले में की सरकार से हस्तक्षेप की मांगपंजाब नेशनल बैंक।

नयी दिल्ली। बैंक कर्मचारियों के एक संगठन ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाला मामले में सरकार से दखल की मांग करते हुए आज कहा कि जांच पूरी होने और जिम्मेदारी तय किये जाने तक शीर्ष प्रबंधन तथा अधिकारियों को सेवा से बाहर किया जाना चाहिए।

संगठन ऑल इंडिया बैंक एंप्लाइज एसोसिएशन ने पत्र लिखकर कहा कि ऐसा संदेश जा रहा है कि इसमें सिर्फ नीचे के पदों के अधिकारी शामिल थे। उसने कहा, जो कार्रवाई निचले अधिकारियों के ऊपर हुई है वही शीर्ष अधिकारियों के ऊपर भी होनी चाहिए। हालांकि हम निचले स्तर पर हो रहे गलत काम का भी समर्थन नहीं करते हैं लेकिन इस मामले में ऐसा संदेश जा रहा है जैसे सारी गड़बड़ी निचले स्तर पर की गयी हो। निचले अधिकारियों को निलंबित करने में इतनी जल्दीबाजी क्यों।

ये भी पढ़ें- नेशनल कॉन्फ्रेंस एग्रीकल्चर 2022 : किसानों की आय दोगुनी करने की राह में कई चुनौतियां

कैसे हुआ घोटाला

  • डायमंड इंपोर्ट करने को लेटर ऑफ़ क्रेडिट के लिए PNB से संपर्क।
  • नीरव मोदी के लिए PNB सप्लायर्स को करता था भुगतान।
  • बाद में नीरव मोदी से वसूले जाते थे पैसे।
  • PNB अधिकारियों ने जाली लेटर ऑफ अंडरटेकिंग जारी किए।
  • भारतीय बैंक की विदेशी शाखाओं ने डॉलर में लोन दिया।
  • लोन का इस्तेमाल बैंक के नोस्ट्रो अकाउंट की फंडिंग के लिए।
  • एकाउंट्स से फंड को विदेश में कुछ फर्मों को भेजा गया।
  • नोस्ट्रो अकाउंट एक भारतीय बैंक का विदेशी बैंक में खाता।

पिछले 15 दिन में क्या-क्या हुआ?

  • पंजाब नेशनल बैंक ने जनवरी में पहली बार नीरव मोदी और उनके साथियों के खिलाफ शिकायद दर्ज कराई। इस शिकायत में उन पर 280 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया गया था।
  • सीबीआई ने नीरव मोदी, उनकी पत्नी, भाई और कारोबारी साझेदार के खिलाफ मामला दर्च किया। उन पर आपराधिक साजिश रचने का आरोप लगा।
  • 14 फरवरी को आंतरिक जांच पूरी होने के बाद पंजाब नेशनल बैंक ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को इस फर्जीवाड़े की जानकारी दी।
  • पंजाब नेशनल बैंक ने दूसरे बैंकों को पत्र लिखकर इस फर्जीवाड़े को करने के तरीके के बारे में चेताया और ये भी कहा कि ये धोखाधड़ी 1.8 अरब डॉलर तक की हो सकती है।
  • बैंक ने नीरव मोदी और एक ज्वैलर कंपनी के खिलाफ दो और शिकायत सीबीआई में दर्ज कराई हैं।
  • 15 फरवरी को प्रवर्तन निदेशालय ने दखल दिया और नीरव मोदी के मुंबई, सूरत और दिल्ली के कई दफ्तरों पर छापामारी की। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया।
  • पंजाब नेशनल बैंक के एमडी ने दावा किया कि बैंक देनदारी का आकलन करने के बाद बकाया चुका देगा। इसके अलावा ये भी पुष्टि की गई है कि नीरव मोदी लोन का हिस्सा चुकाने के लिए बैंक से बातचीत कर रहे हैं।
  • खबरों के मुताबिक भारतीय नागरिक नीरव मोदी और बेल्जियम के नागरिक उनके भाई निशाल 1 जनवरी को भारत से रवाना हुए थे। उनकी पत्नी अमरीकी नागरिक हैं और वो 6 जनवरी को भारत से गईं।
  • सीबीआई और ईडी ने विदेश मंत्रालय से नीरव मोदी और मेहुल चोकसी का भारतीय पासपोर्ट जब्त करने का आग्रह किया गया।
  • पंजाब नेशनल बैंक ने अपने दो कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें- हर साल आता है किसानों की जान लेने वाला ‘मौसम’

Share it
Top