देश भक्ति के नाम पर बाजारीकरण का दौर

देश भक्ति के नाम पर बाजारीकरण का दौरअक्षय कुमार।

हर छोटी बड़ी कंपनियां अपने उत्पादों को बेचने के लिए तमाम प्रयास करती हैं। बहुत से ऐसे ब्रॉड हैं जो पहले लोगों में डर पैदा करते हैं फिर अपने प्रोडक्ट को उनके लिए सबसे सही बता कर उसे खरीदने को कहते हैं। अभी भी ऐसे विज्ञापन आपको टीवी पर प्रसारित होते दिख जाएंगे। लेकिन अब कंपनियों ने इसके लिए देश भक्ति का सहारा लेना शुरू कर दिया है। और इस मामले में अक्षय कुमार सबसे आगे हैं।

अक्षय कुमार के ऐसे कई विज्ञापन आपको देखने को मिल जाएंगे, जिसमें वो देश भक्ति के नाम पर प्रोडक्ट को बेचते दिख रहे हैं। 15 जनवरी 2018 को उन्होंने अपने फेसबुक एकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया, इसमें अक्षय कुमार कजारिया टाइल्स का विज्ञापन कर रहे हैं। वीडियो में एक बच्चा पतंग उड़ा रहा है जो तिरंगे के रंग की है, पतंग कट जाती है और फिर अक्षय कुमार उसके पीछे दौड़ते है कि वो ज़मीन पर न गिर जाए। तमाम मुश्किलों के बाद आख़िर कार वो पतंग को पकड़ने में कामयाब हो जाते हैं। और फिर वो कहते हैं, ''कुछ बात है इस देश की मिट्टी में जिससे देश का हर कोना जुड़ा है और हम भी... देश की मिट्टी से बनी टाइल्स से देश को बनाते हैं... कजारिया।'' अब आप ही बताइये क्या कजारिया के अलावा दूसरी कंपनी की टाइल्स दूसरे देश की मिट्टी से बनती हैं क्या ?

अक्षय कुमार की देश भक्ति यहीं तक सीमित नहीं है। इससे पहले अक्षय कुमार ने 30 अक्टूबर 2017 को अपने फेसबुक पर एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें वो फार्च्यून आयल का प्रचार कर रहे हैं। वीडियो में अक्षय सैनिकों के सात बैठे हुए हैं। सब आपस में बात कर रहे हैं। हंसी-मजाक कर रहे हैं। तभी अक्षय पूछते हैं, ''आप लोगों को घर की कौन सी बात सबसे ज्यादा याद आती है?'' एक सैनिक कहता है, घर को, घर वालों को। दूसरा कहता है- सर मेरी बच्ची तीन महीने की हो गई है लेकिन अभी तक गोद में नहीं लिये हैं। फोन में बच्ची की तस्वीर देखते हुए अक्षय पूछते हैं- आप लोग घर के खाने को मिस करते हो? फिर अक्षय अपने रसोई में पहुंचते हैं। खाना बनाते हैं। फिर सैनिक खाते हुए कहते हैं, बड़े साल बाद इतने स्वाद का खाना खाया। एक सैनिक कहता है- घर सा स्वाद है आपके खाने में सर। अक्षय जवाब देते हैं - घर का स्वाद तो होना ही था। आपके घर से जो हूं। जैसे 130 करोड़ और हैं।

इसके अलावा आपने अगर ध्यान दिया हो तो देखा होगा अक्षय कुमार पिछले कुछ वर्षों से देश भक्ति का नारा बुलंद करते रहते हैं। लेकिन आपको जानकर ये हैरानी होगी कि सोते-जागते हर वक्त देशभक्ति की बात करने वाले अक्षय कुमार की नागरिकता भारत की नहीं है। उनके पास कनाडा की नागरिकता है। इसके अलावा वो ज्यादातर देश भक्ति से जुड़ी फिल्में कर रहे हैं। देश भक्ति से जुड़ी फिल्में करना गलत नहीं है लेकिन क्या देश भक्ति के नाम पर तेल बेचना, टाइल्स बेचना सही है?

इसके साथ ही लगता है कंपनियों ने समझ लिया है कि किसी भी चीज को देश से जोड़ दो देश के सैनिकों से जोड़ दो बस लोग उसको खरीदने के लिए टूट पड़ेंगे। तो एक और कंपनी ने इस नुस्खे को अपना लिया। हाल ही में जेके सुपर सीमेंट का एक विज्ञापन टीवी पर आना शुरू हुआ है। इसमें देश की सीमा पर तैनात एक सैनिक दूसरे सैनिक से आकर कहता है- ओय जयदीपे... तेरी छुट्टी मंज़ूर हो गई है। और फिर वो घर के लिए निकलता है। रास्ते में अपने एक साथी को वो फोन पर दिखाता है कि उसका घर बन रहा है। और फिर घर पर फोन करके कहता हैं- घर में सिर्फ जेके सुपर सीमेंट ही लगाना। और फिर घर पहुंचते ही पूचता है कौन सी सीमेंट इस्तेमाल हो रही है तो उसेके पिता उससे कहते हैं- जेके सुपर सीमेंट... किसकी हिम्मत जो एक फौजी की बात टाले। और फिर बैकग्राउंड से आवाज़ आती है- देश के रक्षक से ज़्यादा सुरक्षा का महत्व कौन समझेगा?

Tags:    akshay kumar 
Share it
Share it
Share it
Top