‘समाजवादी पेंशन योजना’ पर योगी सरकार ने लगाई रोक, दिये जांच के आदेश, साईकिल ट्रैक पर भी चल सकता है हथौड़ा

‘समाजवादी पेंशन योजना’ पर योगी सरकार ने लगाई रोक, दिये जांच के आदेश, साईकिल ट्रैक पर भी चल सकता है हथौड़ासमाजवादी योजनाओं पर योगी ने साधा निशाना।

लखनऊ। मंगलवार को योगी सरकार की दूसरी कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री फिर कई बड़े फैसले लिए हैं। उन्होंने अखिलेश सरकार की समाजवादी पेंशन योजना पर रोक लगा दी है और उस पर जांच के आदेश दे दिए हैं। साथ ही समाजवादी पार्टी की साइकल ट्रैक तोड़ने पर भी विचार कर रही है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

महाबैठक में योगी के फैसलों का सीधा असर अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट्स पर पड़ा है। योगी ने समाजवादी पेंशन योजना को तत्काल प्रभाव से रोकने का आदेश दिया है। उन्होंने आदेश दिए हैं कि जिन्हें पेंशन मिल रही है, वो इसके असली हकदार हैं या नहीं, इस बात की जांच की जाए। जांच रिपोर्ट एक महीने में देनी होगी। समाजवादी पेंशन के तहत गरीब परिवारों को हर महीने 500 रुपए देना तय था। वहीं अब योगी सरकार ने विधवाओं, दिव्यांगों और बुजुर्गों को पेंशन की राशि दोगुनी यानी एक हजार रुपए देने की योजना बनाई है।

इसके अलावा अखिलेश सरकार की ‘शादी अनुदान योजना’ को भी बदल दिया गया है। उत्तरप्रदेश में शादी अनुदान योजना का नाम अब ‘कन्यादान योजना’ कर दिया गया है जिसके तहत गरीब परिवारों में बेटियों की शादी के लिए 20 हजार रुपए की राशि दी जाती

साइकिल ट्रैक पर चल सकता है हथौड़ा

योगी सरकार ने अखिलेश यादव की समाजवादी साइकिल ट्रैक पर भी निशाना साधा और उसे तुड़वाने पर विचार किया। लखनऊ, नोएडा जैसे शहरों में साइकिल ट्रैक हटाए जाने के बारे में योजना बनाएगी जिससे सड़कों को चौड़ा किया जा सके। अखिलेश सरकार ने लखनऊ से लेकर नोएडा समेत यूपी के कई शहरों में साइकिल ट्रैक बनाए थे। बैठक में इस संबंध में वित्त, नगर विकास और पीडब्लूडी मन्त्रियों से बातचीत की गई। यूपी सरकार ने कहा है कि 15 जून तक 85,943 किलोमीटर सड़कों को युद्धस्तर पर दुरूस्त किया जाएगा. इसमें राष्ट्रीय राजमार्ग और प्रदेश राजमार्ग शामिल हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top