अपने घोषणा-पत्र में बुर्के पर प्रतिबंध की वकालत करेगी यूके इंडिपेंडेंस पार्टी  

अपने घोषणा-पत्र में बुर्के पर प्रतिबंध की वकालत करेगी यूके इंडिपेंडेंस पार्टी  प्रतीकात्मक फोटो।

लंदन (भाषा)। धुर दक्षिणपंथी और आव्रजन विरोधी यूके इंडिपेंडेंस पार्टी (यूकेआईपी) आठ जून को ब्रिटेन में होने वाले आम चुनावों के लिए अपने घोषणा-पत्र में सार्वजनिक स्थानों में बुर्के पर पाबंदी का ऐलान करने की तैयारी में है। जल्द ही जारी किए जाने वाले अपने तथाकथित ‘‘एकीकरण एजेंडा'' के तहत यूकेआईपी के नेता पॉल नटल शरिया कानून को भी प्रतिबंधित करने का संकल्प लेंगे, ताकि ब्रिटेन में किसी भी तरह की शरिया अदालतों के संचालन पर रोक लगाई जा सके।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

‘सन' अखबार के मुताबिक, यूकेआईपी ब्रिटेन को फ्रांस, बेल्जियम और बल्गेरिया की कतार में खड़ा करना चाहती है, जहां बुर्के पर प्रतिबंध है। नटल का मानना है कि बुर्के जैसे परिधान सामाजिक सद्भाव में बाधा है और सुरक्षा के लिए भी जोखिम है। उनकी योजनाओं के तहत लड़कियों के खतना के सबूतों से लैस लोगों के लिए पुलिस को इसकी जानकारी देना बाध्यकारी होगा। यूकेआईपी ज्यादातर नागरिकों के लिए पोस्टल वोटिंग खत्म करने का भी आह्वान करेगी. यह कदम वह इन आशंकाओं के साथ उठाने जा रही है कि चुनावी फर्जीवाडे के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। पार्टी के उप-नेता और सांस्कृतिक प्रवक्ता पीटर व्हिटल की ओर से ये प्रस्ताव तैयार किए गए हैं। व्हिटल ने कहा, ‘‘हम ऐसी पार्टी हैं जो बाहरी और भीतरी इस्लाम से हमें खतरे के बारे में बात करती है । उल्लेखनीय है कि यह ऐसे समय में हो रहा है जब स्थापित पार्टियां डर, इनकार या कायरता के कारण चुप हैं''

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top