एक महीने में 50 फीसदी बढ़ी टमाटर की कीमत

एक महीने में 50 फीसदी बढ़ी टमाटर की कीमतगाँव कनेक्शन

लखनऊ। टमाटर के दाम पिछले एक महीने में 50 फीसदी बढ़कर 62 रुपए किलो हो गये हैं। पिछले वर्ष इसी समय के मुकाबले तो प्याज के दामों में 100 फीसदी से ज्यादा वृद्धि है।

देश की सबसे बड़ी सब्ज़ी मंडियों से एक दिल्ली की आज़ादपुर मंडी में टमाटर की होलसेल कीमत पिछले महीने के 41 रुपए के मुकाबले अभी 62 रुपए तक चल रही है।

सरकार के मुताबिक है कि नई फसल आने के साथ कीमतें नरम पड़ने की संभावना है। टमाटर की कीमतें देश के विभिन्न हिस्सों में बढ़ी हैं, वहीं खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि आवश्यक जिंसों की उपलब्धता और जरूरी उपायों की समीक्षा चल रही है।

तेरह करोड़ तन सालाना उत्पादन के साथ भारत, चीन के बाद विश्व का दूसरा सबसे बड़ा टमाटर उत्पादक देश है। बिहार, कर्णाटक व उत्तर प्रदेश तीन सबसे बड़े टमाटर उत्पादक राज्यों में से हैं।

सरकारी बयान के मुताबिक पिछले सप्ताह प्याज और टमाटर की कीमतों में मामूली वृद्धि व्यापक तौर पर दक्षिणी राज्यों से आपूर्ति में बाधा के कारण हुई है। दक्षिणी राज्यों से आपूर्ति में बाधा का कारण पिछले एक सप्ताह के दौरान वहां भारी बरसात का होना है।

बढ़ती कीमतों पर सरकार की नज़र 

केन्द्र ने कहा कि वह विगत कुछ दिनों में प्रतिकूल मौसम को देखते हुए आवश्यक कमोडिटी की दरों पर दबाव के मद्देनजर मांग एवं आपूर्ति की स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए है। बयान में कहा गया है, कि मांग और आपूर्ति के अंतर के कारण सितंबर से दिसंबर के दौरान कीमतों में मामूली वृद्धि हुई है। सरकार कीमतों में असामान्य वृद्धि को रोकने और आवश्यक जिंसों की पर्याप्त उपलब्धता को सुनिश्चित करने व तत्काल कार्रवाई के लिए राज्य सरकारों के साथ काम कर रही है।

Tags:    India 
Share it
Top