भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा, पटना साहिब से उम्मीदवार

हाल के कुछ महीनों में सिन्हा ने कई मौकों पर कांग्रेस अध्यक्ष की तारीफ की थी और कांग्रेस के न्यूनतम आय योजना (न्याय) के चुनावी वादे को मास्टर स्ट्रोक बताया था।

भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए शत्रुघ्न सिन्हा, पटना साहिब से उम्मीदवार

नई दिल्ली। भाजपा के बागी नेता शत्रुघ्न सिन्हा शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। उन्होंने कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला तथा कुछ अन्य नेताओं की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। सिन्हा ने गत 28 मार्च को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी और उसी समय उनका पार्टी में शामिल होना लगभग तय हो गया था। सिन्हा पिछले लोकसभा चुनाव में पटना साहिब से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते थे। हालांकि, उन्होंने पिछले कुछ वर्षों से बागी रुख अख्तियार कर रखा था।



पिछले दिनों भाजपा ने उनकी जगह कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को पटना साहिब से अपना उम्मीदवार घोषित किया। हाल के कुछ महीनों में सिन्हा ने कई मौकों पर कांग्रेस अध्यक्ष की तारीफ की है। उन्होंने कांग्रेस के न्यूनतम आय योजना (न्याय) के चुनावी वादे को मास्टर स्ट्रोक बताया था। कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करने कुछ घंटे बाद ही शत्रुघ्न को पटना साहिब से उम्मीदवार घोषित कर दिया गया।

शत्रुघ्न सिन्हा ने दावा किया कि भाजपा में लोकतंत्र को तानाशाही बदल दिया गया जिसकी वजह से उन्हें इस पार्टी से अलग होना पड़ा। सिन्हा यह भी कहा कि वह उस कांग्रेस में शामिल हुए हैं जिसका देश की आजादी में सबसे बड़ा योगदान है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ''देश का भविष्य'' करार देते हुए कहा कि गांधी एक बहुआयामी और दूरदर्शी नेता के तौर पर सामने आए हैं। कांग्रेस में शामिल होने के बाद सिन्हा ने कहा, '' भाजपा में मेरी परवरिश हुई। धीरे धीरे मैं आगे बढ़ता गया। बाद में परिवर्तन शुरू हुआ, लेकिन वह परिवर्तन अच्छा नहीं था। धीरे धीरे भाजपा में लोकतंत्र तानाशाही में बदल गया।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top