#स्वयं फेस्टिवल : 60 साल में ल्यूकोरिया तो कैंसर की आशंका : डॉ रेखा सचान 

Rishi MishraRishi Mishra   3 Dec 2016 8:40 PM GMT

#स्वयं फेस्टिवल : 60 साल में ल्यूकोरिया तो कैंसर की आशंका : डॉ रेखा सचान बीकेटी के गांव सुनवां में ग्रामीण महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण करतीं डॉ रेखा सचान।

लखनऊ। लड़कियों जाना महावारी क्या होती है। एक उम्र के बाद ल्यूकोरिया की शिकायत होना कही बच्चेदानी का कैंसर तो नही। महावारी में नहाना चाहिए या नही तीन क्या है इसकी सही उम्र। अस्पताल का प्रसव हर मानों में होता है। मौका था गांव केनेक्शन के स्वयं प्रोजेक्ट दूसरें दिन का जिसके अन्तरर्गत आर आर इंस्टीटयूट की लड़कियों के लिए और सोमनवा गांव की महिलाओं के लिए हेल्थ कैम्प लगाया गया। इस हेल्थ कैम्प का जहां चार सौ महिलाओं ने लाभ उठाया वही दूसरी और कालेज की लड़कियों महावारी से जुड़े अपने सवालों को डाक्टर से साझा किया।

डॉ रेखा सचान ने सबकी सुनी बात। सबका हुआ इलाज।

गांव कनेक्शन की ओर से आयोजित स्वयं फेस्टीवल के दूसरें दिन आर आर इंस्टीटयूट में लड़कियों की स्वास्थ्य का जायजा लेने पहुंची क्वीन मैरी की प्रोफेसर डाक्टर रेखा सचान ने लड़कियों को हाईजीन और महावारी के बारें मे जानकारी दी लड़कियों ने खुलकर महावारी से जुड़े सवाल रखें। और उसके जवाब पाए। क्या महावारी में नहाना चाहिए या नही, क्या महावारी में किचन मे जाना चाहिए या नही। दिन में कितनी बार स्नेट्री नैपकीन बदलना चाहिए। जैसे सवाल छात्राओं ने रखे जिसके जवाब डाक्टर रेखा सचान ने दिए। उन्होने बताया महावारी के वक्त साफ सफाई रखना बहुत जरूरी है। वह खून हमारे शरीर का ही खून होता है। महावारी में लड़किया अशुद्व या गन्दी हो जाती है यह सिर्फ एक पूराने जमाने की भ्रांति है। तीन बार स्नेट्री नैपकीन को बदलना चाहिए। तो वही दूसरी ओर बक्शी के तालाब सुमनवा गांव में महिलाओं से जुड़ी बिमारियों के बारें में डाक्टर ने हेल्थ कैम्प लगाया। zGvQsKy*[�

न केवल बीमारी बताई बल्कि उससे बचने के उपाय सुझाती डॉ सचान।

जिसमें महिलाओं से जुड़ी गम्भीर बिमारियों के बारें में बताया गया। 10 साल से पहले महावारी शुरू हो जाए और 16 साल तक महावारी न शुरू हो तो डाक्टर की सलाह ले। आयरन की गोलियां खाए उसे फेके नही। गर्भावस्था के दौरान बीपी और थारयराइड की जाँच अवश्य कराए। खेतो और घरों मे प्रसव होने के दौरान महिलाओं की अधिकतर मौत हो जाती है अस्पताल में प्रसव कराए। अस्पताल का प्रसव ही सुरक्षित प्रसव होता है। वही 60 साल से ऊपर की महिलाओं को लीकोरियां की शिकायत हो तो इससे बच्चेदानी का कैंसर हो सकता है ऐसे में शर्माए नही तुरन्त डाक्टर के पास जाए। सुनवा गाँव में डाक्टर रेखा सचान ने महिलाओं को उनकी सेहत से जुड़ी जानकारियां दी इतना ही नही करीब तीन सौ महिलाओं की जांच की और उन्हे दवाईयां लिखी।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top