मुंबई के इस वकील ने वरसोवा बीच पर दो साल तक की सफाई, पीएम मोदी ने भी की इनकी चर्चा

मुंबई के इस वकील ने वरसोवा बीच पर दो साल तक की सफाई, पीएम मोदी ने भी की इनकी चर्चावकील अफरोज शाह।

‘द नीलेश मिसरा शो’ का तीसरा एपिसोड है ‘ये टेढ़े लोग’। देश के सबसे चहेते स्टोरीटेलर नीलेश मिसरा इस एपिसोड में आपको कुछ पागल, टेढ़े, जिद्दी, नासमझ, अजीब लोगों से मिलवा रहे हैं। इस तरह के लोगों को पहचानना ज़रूरी है... क्यूंकि .. हमारे हीरो हमारे आसपास रहते हैं…

ये अजीब लोग कितनी छोटी-छोटी लड़ाइयां लड़ते हैं रोज... और रोज कितने बड़े स्तर पर रोज दुनिया को बदलते हैं...अपने शहर, अपने गाँव, अपने मोहल्ले, अपने पड़ोस में ही लोगों कि जिंदगियां बेहतर करते हैं। लेकिन दुनिया तो ऐसे लोगों को अक्सर नार्मल नहीं समझती है।

मुंबई के एक वकील अफरोज शाह ने 2015 में वो करने की सोची जो.. कई लोग कह सकते हैं कि उनका काम नहीं था। उन्होंने मुंबई के सबसे बड़े बीच, वरसोवा बीच, को साफ़ करने का बीड़ा उठाया। वरसोवा में मैं भी कई साल रह चुका हूँ और जानता हूँ कि ये बीच इतबा गंदा, इतना बदबूदार रहा है कि वहां ठहरना मुश्किल होता था।

अफरोज ने अपनी कोशिशों से 12000 वालंटियर जुटाए। एक सौ नौ हफ़्तों यानी दो सालों तक, ये भले लोग वरसोवा बीच को अपने हाथों से साफ़ करने की मुहिम चलाते रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक ने अपने शो 'मन की बात' में उनकी चर्चा की। और फिर अफरोज हार गए।

ये भी पढ़ें- द नीलेश मिसरा शो : कौन हैं ये अजीब लोग, जो बाकी दुनिया की तरह अपने बारे में नहीं सोचते ? 

बाकी दुनिया ने उन्हें एक तो कोई मदद नहीं की, दूसरा उस बीच को दोबारा गंदा करना उन लोगों का जन्मसिद्ध अधिकार। यहीं नहीं, उन्हें गालियां मिलीं, गुंडों से धमकियां मिलीं, और महानगरपालिका के आलस को झेलना पड़ा। दुनिया के इतिहास का सबसे बड़ा बीच साफ़ करने का प्रयास.. ढेर हो गया। नहीं दुनिया अक्सर नहीं समझती ऐसे लोगों को फिर भी वह अपने छोटे बड़े काम करते रहते हैं।

Share it
Share it
Share it
Top