Gaon Radio: नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित थारू जनजाति की आरती राना की कहानी

आरती राना कभी पेट भरने के लिए तालाब से मछली पकड़ती थीं, रोटी बनाने के लिए जंगल में भटककर लकड़ियां बीनकर लाती थीं, लेकिन आज ये सैकड़ों महिलाओं की जिंदगी बदल रहीं हैं, यही नहीं इन्हें इस बार नारी शक्ति पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है। गाँव रेडियो में सुनिए थारू समुदाय की आरती राना की कहानी ..

Gaon Radio: नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित थारू जनजाति की आरती राना की कहानी

खबर पढ़ें कभी एक वक्त की रोटी के लिए जंगल में भटकती थीं आज 1200 महिलाओं को दे रहीं हैं रोजगार

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.