जेल जाने को तैयार, लेकिन जुर्माना नहीं दूंगा: श्री श्री रविशंकर

जेल जाने को तैयार, लेकिन जुर्माना नहीं दूंगा: श्री श्री रविशंकरGaon Connection shrishri ravishankar

गाँव कनेक्शन नेटवर्क

नई दिल्ली। यमुना किनारे आर्ट ऑफ लिविंग के कार्यक्रम को लेकर फसाद बढ़ता जा रहा है। नेशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल यानि एनजीटी ने आयोजकों पर 5 करोड़ का जुर्माना लगाया है, लेकिन श्री श्री रविशंकर ने जुर्माना देने से इनकार कर दिया है। श्री श्री रवि शंकर ने कहा कि जेल जाने के लिए तैयार हैं लेकिन जुर्माना नहीं देंगे।

जुर्माना भरने के लिए आज की मियाद

श्री श्री रविशंकर के पास 5 करोड़ का जुर्माना भरने के लिए आज तक का वक्त है। एनजीटी ने कार्यक्रम की इजाजत तो दी है लेकिन आर्ट ऑफ लिविंग को 5 करोड़ रुपये का भुगतान करने को कहा है। अपना फैसला सुनाते हुए एनजीटी ने कहा था कि याचिकाकर्ताओं ने देर कर दी है। आर्ट ऑफ लिविंग के कार्यक्रम की तैयारी पूरी हो चुकी है, लिहाजा इसे अब रोका नहीं जा सकता। एनजीटी ने अपने फैसले में कहा कि आर्ट ऑफ लिविंग यमुना में इको-एंजाइम न डाले, साथ ही ऐसा कोई काम न करे जिससे पर्यावरण को नुकसान हो।

डीडीए पर भी जुर्माना

एनजीटी ने दिल्ली विकास प्राधिकरण पर 5 लाख का और दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड पर भी 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। विश्व सांस्कृतिक महोत्सव 11 से 13 मार्च के बीच होना है। दिल्ली में पहली बार यमुना के किनारे दुनिया भर के 35 हजार से ज्यादा कलाकार इकट्ठा होंगे।

कहां-कहां से आएंगे कलाकार

श्री श्री रविशंकर के कार्यक्रम में रूस, अर्जेंटीना, स्विट्जरलैंड और जापान समेत दुनिया के 35 हज़ार से ज्यादा कलाकार शामिल होंगे। इस बीच आयोजन स्थल पर पंटून ब्रिज (पीपे का पुल) बनाने को लेकर भी विवाद खड़ा हो गया है। ख़बर है कि रक्षा मंत्रालय ने सेना से 6 पुल बनाने को कहा था, लेकिन सेना ने कहा कि वो दो ही पुल बना सकती है।

 

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top