एक करोड़ ‘वृक्ष दूत’ करेंगे वनों का संरक्षण

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   30 Sep 2016 4:44 PM GMT

एक करोड़ ‘वृक्ष दूत’ करेंगे वनों का संरक्षणउत्तर प्रदेश के लखनऊ के तहसील बक्शी का तालाब के गाँव दौलतपुर में पेड़ काटते मजदूर। अगर महाराष्ट्र की तरह उत्तर प्रदेश सरकार भी वृक्षदूत और वृक्षमित्र की व्यवस्था करे तो प्रदेश में वनक्षेत्र बढ़ सकता है।

चंद्रपुर (भाषा)। अगर आप ने पेड़ को काटा तो अचानक 'वृक्ष दूत' आकर आपको पकड़ लेगा और ‘वृक्ष मित्र' बनकर उसकी रक्षा करेंगे। महाराष्ट्र सरकार 50 करोड़ पौधे रोपन के लिए शीघ्र ही 'वृक्ष दूत' की नियुक्ति करने जा रहा है।

महाराष्ट्र सरकार के पौधरोपण अभियान के अगले चरण में 50 करोड़ पौधे रोपने के लक्ष्य को पूरा करने के लिए प्रदेशभर में एक करोड़ ‘वृक्ष दूतों' को नियुक्त किया जाएगा। राज्य के वन मंत्री सुधीर मुनगंतीवार ने कल यहां वन्यजीवों के लिए ‘ट्रांजिट टरीटमेंट सेंटर' के उद्घाटन के दौरान यह घोषणा की। पौधरोपण का पिछला अभियान जुलाई में हुआ था। अब पौधरोपण के लक्ष्य को दो करोड़ से बढ़ाकर 50 करोड़ कर दिया गया है।

मंत्री ने बताया कि सभी वृक्ष दूतों को हर साल एक पौधेरोपण का दायित्व दिया जाएगा। इसके अलावा वृक्षों के संरक्षण के लिए वे ‘वृक्ष मित्र' का काम भी करेंगे। ट्रांजिट ट्रीटमेंट सेंटर 370.25 वर्गमीटर में फैला हुआ है। इसमें ओपीडी, ऑपरेशन थिएटर, चिकित्सकों और दवाईयों को रखने के लिए कमरे भी हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top