रबी फसलों में कम अंतराल में नियमित सिंचाई करने की सलाह

रबी फसलों में कम अंतराल में नियमित सिंचाई करने की सलाहरबी की प्रमुख फसल अलसी।

रायपुर (भाषा)। छत्तीसगढ़ में तेज गर्मी का असर फसलों पर भी हो रहा है। राज्य के कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को रबी फसलों में लगातार सिंचाई करने का सुझाव दिया है।

आधिकारिक सूत्रों ने यहां बताया कि कृषि वैज्ञानिकों और कृषि विभाग के अधिकारियों ने भीषण गर्मी को देखते हुए किसानों को रबी फसलों में लगातार सिंचाई करने का सुझाव दिया है।

अधिकारियों ने बताया कि कृषि वैज्ञानिकों द्वारा इस संबंध में यहां जारी विशेष बुलेटिन में कहा गया है कि वर्तमान में वाष्पीकरण की दर 8-10 मिलीमीटर प्रतिदिन के आसपास है। इसके कारण रबी फसलों धान, मूंगफली और साग-सब्जियों में पानी की जरुरत बढ़ गई है। ऐसी स्थिति में किसानों को फसलों में सिंचाई के अंतराल को कम करने को कहा गया है, जिससे मिट्टी में पर्याप्त नमी बनी रहे और फसलों में अधिक तापमान के कारण पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभाव को कम किया जा सके।

विशेष बुलेटिन में यह भी कहा गया है कि वर्तमान में मूंगफली और सूरजमूखी की फसल फल्ली बनने या दाना भरने की अवस्था में है। इस अवस्था में पानी की सबसे ज्यादा जरुरत होती है। इसलिए फसलों में कम अंतराल में नियमित सिंचाई करना आवश्यक है।

अधिकारियों ने बताया कि कृषि वैज्ञानिकों ने पशुपालक किसानों को भी गर्मी के इस मौसम में पशुओं की उचित देखभाल की सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि पशुओं को छायादार स्थानों पर बांधना चाहिए तथा पर्याप्त मात्रा में साफ पानी पीने के लिए देना चाहिए। मुर्गी घरों के चारों ओर लगी जालियों में बोरे लगाकर उसे समय समय पर गीला करते रहना चाहिए।

राज्य में गर्मी में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। राजधानी रायपुर स्थित मौसम केंद्र के अधिकारियों ने बताया कि रायपुर में अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री, बिलासपुर में 42.5 डिग्री, अंबिकापुर में 41.3 डिग्री और जगदलपुर में 36.8 डिग्री सेल्सियस मापा गया है।आने वाले दिनों में तापमान में बढ़ोतरी होने की संभावना है।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top