भारत में कच्चे तेल की मांग आठ फीसदी बढ़ी

भारत में कच्चे तेल की मांग आठ फीसदी बढ़ीकच्चे तेल की मांग बढ़ी।

नई दिल्ली (भाषा)। भारत की कच्चे तेल की खपत वृद्धि दर इस साल सात से आठ प्रतिशत रहेगी जो कि लगातार तीसरे साल चीन की कच्चे तेल की मांग वृद्धि से अधिक होगी।

यह बात प्लाटटस एनालायटिक्स के एक नोट में कही गई है। नोट के अनुसार इस क्षेत्र पर नोटबंदी का प्रभाव छोटी सी अवधि के लिए रह सकता है। इसके मुताबिक एलपीजी और वाहन ईंधन की मांग भी बढ़ेगी जबकि नई पेट्रोकेमिकल परियोजनाओं से नेप्था की मांग को फायदा मिलेगा।

प्लाट्स के अनुसार, ‘‘भारत में तेल की मांग में उल्लेखनीय वृद्धि इस बात की ओर इशारा करती है कि 2017 में भारत एशियाई वृद्धि का अग्रणी बना रहेगा।''

‘‘लगातार तीसरे साल भारत की तेल मांग वृद्धि चीन की मांग वृद्धि से अधिक रही है। प्लाट्स एनालायटिक्स के अनुसार वर्ष 2017 में इसके सात प्रतिशत बढकर 41.30 लाख बैरल प्रतिदिन रहने का अनुमान है जबकि चीन में इसकी मांग तीन प्रतिशत बढ़कर 115 लाख बैरल प्रतिदिन रहने का अनुमान है।''

इसमें कहा गया है, ‘‘भारत में हालांकि तेल की खपत वृद्धि के लिए कारक काफी मजबूत है लेकिन 2017 के शुरुआती महीनों में धीमी वृद्धि की वजह नोटबंदी हो सकती है। इससे 2017 में कुल खपत वृद्धि 2016 के नौ प्रतिशत की मुकाबले कुछ हल्की रह सकती है।''


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top