छत्तीसगढ़ के किसान कहीं से भी खरीदें कृषियंत्र, मिलेगा अनुदान  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   24 Jan 2017 7:55 AM GMT

छत्तीसगढ़ के किसान कहीं से भी खरीदें कृषियंत्र, मिलेगा अनुदान  छग के किसान कहीं से भी लें कृषियंत्र, मिलेगा अनुदान।

रायपुर (आईएएनएस)| छत्तीसगढ़ में किसानों को उनकी पसंद के गुणवत्तायुक्त कृषि यंत्र या कृषि उपकरण छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम या निजी कंपनियों के पंजीकृत विक्रेताओं से खरीदने की स्वतंत्रता है। कृषि विभाग की ओर से नियमानुसार अनुदान दिया जाता है।

कृषि संचालनालय के अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2008 से पहले किसानों को छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम से कृषि उपकरण या कृषि यंत्र खरीदने पर ही अनुदान की पात्रता थी। राज्य शासन ने किसानों के व्यापक हित में अगस्त 2008 के बाद बीज निगम से उपकरण या यंत्र खरीदने की बाध्यता खत्म कर दी है। इसके साथ ही निजी कंपनियों के अधिकृत और पंजीकृत विक्रेताओं से कृषि यंत्र उपकरण खरीदने के लिए किसानों को सुविधा देने के दिशा-निर्देश जारी किए गए।

अधिकारियों ने यह भी बताया कि कृषि विभाग द्वारा कृषि उपकरणों या कृषि यंत्रों का मूल्य निर्धारित नहीं किया जाता है, बल्कि प्रावधान के अनुसार, राज्य शासन द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार, किसानों को बीज एवं कृषि विकास निगम के अतिरिक्त पंजीकृत निजी विक्रेताओं के माध्यम से प्रतिस्पर्धात्मक मूल्यों पर उपलब्ध कराए जाने के लिए एक वित्तीय वर्ष के लिए सुविधा दी जाती है।

कृषि यंत्र, उपकरण, सिंचाई पम्प के प्रदायकों द्वारा प्रस्तुत अधिकतम खुदरा मूल्य (समस्त करो सहित) जिला, विकासखंड और ग्राम स्तर पर किसानों को उपलब्ध कराए जाते हैं, ताकि किसान अधिकतम खुदरा मूल्य के भीतर प्रदायकों से मोलभाव कर कृषि आदान सामग्री खरीद सकें। कृषि विभाग द्वारा किसी भी कृषि यंत्र, उपकरण और पम्पों की दरें निर्धारित नहीं की जाती। प्रदायकों द्वारा प्रस्तुत अधिकतम खुदरा मूल्य को जिलों को प्रसारित किया जाता है।

उन्होंने बताया कि किसानों को उत्तम गुणवत्ता के कृषि यंत्र, उपकरण और पम्प उपलब्ध कराने के लिए आईएसआई के उपकरण या जिनमें आईएसआई मार्क नहीं है, उसे केंद्र सरकार द्वारा चिन्हित संस्थाओं से परीक्षण उपरांत प्रतिवेदन के आधार पर कृषि विभाग में पंजीकृत निमार्ताओं और प्रदायकों के माध्यम से उपलब्ध कराए जाने की व्यवस्था की गई है।

अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2015-16 में किसानों को केंद्र पोषित कृषि यांत्रिकीकरण सब मिशन योजना के अंतर्गत दो हजार 250 शक्तिचलित यंत्रों की आपूर्ति की गई, जबकि इस वर्ष के लिए एक हजार 765 यंत्र बांटने का लक्ष्य रखा गया है। इसी प्रकार हस्त या बैल चलित 500 यंत्र बांटने के लक्ष्य के विरुद्ध सात हजार 597 यंत्र अनुदान पर वितरित किए गए। वर्ष 2016-17 में दो हजार 467 शक्ति चलित कृषि यंत्र और 11 हजार 747 हस्त या बैल चलित कृषि यंत्र अनुदान पर वितरित किए जा चुके हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top