पानी बर्बाद करने पर 1100 रुपए का जुर्माना

पानी बर्बाद करने पर 1100 रुपए का जुर्मानाgaonconnection

भिवानी (हरियाणा)। देश के एक तिहाई ज़िले सूखे की मार झेल रहे हैं। ऐसे में हरियाणा की एक महिला सरपंच ने अपनी पंचायत में घोषणा कर दी है कि पानी बर्बादी करने वाले को 1100 रुपए का जुर्माना देना पड़ेगा।

दिल्ली से करीब सवा सौ किमी दूर दक्षिण हरियाणा के भिवानी जिले की धनाना पंचायत में अब अगर आप पानी से जानवरों को नहलाते या खुद नहाते, गाड़ी धोते, नलकूप से पानी पाईप लगाकर घर के अंदर ले जाते या सरकारी नलों पर कपड़े धुलते पकड़े गए तो आपको भारी-भरकम जुर्माना देना पड़ सकता है।

राजस्थान की सीमा से जुड़े भिवानी जि़ले में जलस्तर की हालत पूरे हरियाणा के मुकाबले सबसे खराब है। यहां के हालात भी महाराष्ट्र के लातूर, उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड और मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ से कतई अलग नहीं हैं। यहां भी लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए मोहताज हैं, और गाँव वालों का ज्यादातर समय दूर-दराज़ के क्षेत्रों तक जाकर पानी लाने में चला जाता है। 

इस गाँव की निवासी विमला देवी (50 वर्ष) बताती हैं, "तीस साल शादी को हो गए, जब से यहां आई हूं पानी की कमी देख रही हूं, गर्मियों में तो और मुश्किल हो जाती है। ऐसे में पंचायत का निर्णय अच्छा है। सबको सबक मिलना चाहिए''।

इस गाँव में अब सबको पता है कि अगर कोई सरकारी नलकूप पर जानवरों को नहलाएगा या फिर गाँव में लगे नलकूप का पानी पाइप से अपने घर ले गया तो 1100 रुपए का जुर्माना भुगतना पड़ेगा। 

''किल्लत के बावजूद कुछ लोग पानी बर्बाद करते हैं, इसलिए अब उन पर जुर्माना लगाया जाएगा। अगर वो दोबारा गलती करते हुए पकड़े गए तो पुलिस में शिकायत कर उन्हें जेल की हवा खिलवाई जाएगी,'' सरपंच सुनीता देवी बताती हैं। 

दरअसल, गाँव की सरपंच सुनीता देवी ने पानी बचाने के लिए पंचायत में एक अभियान छेड़ा हुआ है। इस अभियान के तहत पानी बर्बाद करने वालों पर जुर्माने के साथ-साथ पानी की अहमियत समझाने के लिए जनसभाओं के ज़रिए जागरूकता फैलाना शुरू किया गया। सरपंच के साथ मिलकर गांव की महिलाएं और बच्चे हाथ में पानी बचाने के नारे लिखी तख्तियां लेकर पूरे गाँव में घूमते हैं और पानी बचाने का संदेश देते हैं। 

इस सार्थक पहल के लिए सरपंच सुनीता देवी को भिवानी के एडीसी धीरेंद्र खड़गटा सम्मानित भी कर चुके हैं। उधर, हरियाणा सरकार के जनस्वास्थ्य राज्य मंत्री घनश्याम सर्राफ ने पंचायत के इस फैसले की सराहना की है।

रिपोर्टर - अमित शुक्ला

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top