फोटो : मूसलाधार बारिश बनी वाहनचालकों के लिए मुसीबत, किसी ने 200 तो किसी 400 रुपए देकर लगवाया गाड़ी में धक्का

फोटो : मूसलाधार बारिश बनी वाहनचालकों के लिए मुसीबत, किसी ने 200 तो किसी 400 रुपए देकर लगवाया गाड़ी में धक्का

लखनऊ। एक चौथाई भारत में सावन की शुरुआत झमाझम बारिश से हुई है। 25 जुलाई से शुरु हुआ बारिश दौर जारी है। इस बीच बस कुछ-कुछ घंटों के लिए बूंदाबांदी थमी। 30 जुलाई को हुई मूसलाधार बारिश से नाले-नालियां सब लबालब हो गए हैं। इस बारिश से कई इलाकों में किसानों के चेहरे खिले हुए हैं लेकिन शहरों के लोग मुसीबत में फंस गए हैं। जलभराव के चलते कई इलाकों में लोगों के घरों तक में पानी भर गया है। जलभराव वाले इलाकों में फंसे लोगों ने पैसे देकर अपनी गाड़ियों को बाहर निकलवाया।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सोमवार को सुबह का नजारा पानी मय नजर आया। शहर की ज्यादातर गलियां और कॉलोनियों की सड़कों पर पानी नजर आया। अलीगढ़, मडियांव, तेलीबाग, पारा, राजाजीपुरम समेत कई जगह जलभराव से लोग परेशान दिखे। अलीगंज में एक अस्पताल में पानी भर गया तो शहर में एक मंत्री के घर भी जलभराव नजर आया। जिसके बाद नाराज लोगों ने नगर निगम, एलडीए को जमकर कोसा। जलभराव के चलते सबसे ज्यादा परेशानी उन इलाकों में हुई जहां पर लोगों को अंडर पास से गुजरना होता है।

लखनऊ के चारबाग इलाके में केकेसी और मवैय्या रेलवे अंडर पास के नीचे कई फीट पानी भर गया, जिसके चलते कई वाहन चालक फंस गए। यहां पर गाड़ियों की लंबी कतार लग गई। अकेले फंसे कई वाहन चालकों ने आसपास के लोगों को पैैसे देकर धक्का लगवाया। मौके की नजाकत को देखते हुए रिक्शे वाले और मजदूरों ने भी इसका फायदा उठाया और एक कार को धक्का लगाकर बाहर निकालने के लिए किसी से 200 तो किसी से 400 रुपए लिए। गांव कनेक्शन के फोटो जर्नलिस्ट अभिषेक वर्मा ने वहां कुछ देर रुककर लोगों की मुसीबतों और मशक्कतों को कैमरे में कैद किया।


लखनऊ के चारबाग में कैकेसी रेलवे अंडर पास के नीचे का नजारा। यहां कई लोगों की कार और मोटर साइकिल, स्कूटर जलभराव के चलते बंद हो गए, जिन्हें बाहर निकालने में काफी मुश्किलें हुईं।



कुछ इस तरह परेशान दिखे लोग।



छई छपा छई... कुछ लोगों के लिए बारिश मस्ती लेकर आती है... लखनऊ में भी कई जगह बच्चे और युवक बारिश का आनंद उठाते नजर आए...



राहगीरों के लिए मुसीबत की बारिश... सोमवार को सावन के पहले दिन का नजारा..



मौसम कैसा भी हो... रोजगार तो करना ही है.. बारिश के बीच सब्जी बेचने जाता दुकानदार...



चारबाग में केकेसी अंडरपास के पास जलभराव में फसे वाहन चालकों ने लोगों को मिन्नतें कर निकलवाई अपनी गाड़ियां, कहीं यारी-दोस्ती में चला काम तो कहीं, देने पड़े पैसे...



Share it
Top