Loksabha Election 2019: भाजपा की बढ़त बरकरार, रिकॉर्ड मतों से जीते प्रधानमंत्री मोदी

Loksabha Election 2019:  भाजपा की बढ़त बरकरार, रिकॉर्ड मतों से जीते प्रधानमंत्री मोदी

लखनऊ (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की वाराणसी लोकसभा सीट से रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल की। लोकसभा चुनाव में प्रदेश में अभी तक घोषित आठ चुनाव परिणामों में से छह भाजपा के पक्ष में गये हैं।

चुनाव आयोग द्वारा घोषित परिणाम के मुताबिक मोदी ने अपनी निकटतम प्रतद्विंद्वी सपा—बसपा—रालोद गठबंधन प्रत्याशी सपा की शालिनी यादव को चार लाख 79 हजार 505 मतों से परास्त किया। मोदी को कुल छह लाख 74 हजार 664 मत मिले। वहीं शालिनी को एक लाख 95 हजार 159 वोट हासिल हुए। कांग्रेस के अजय राय तीसरे स्थान पर रहे जिन्हें एक लाख 52 हजार 548 मत प्राप्त हुए।

उन्नाव से भाजपा प्रत्याशी साक्षी महाराज ने अपने निकटतम प्रतद्विंद्वी गठबंधन उम्मीदवार सपा के अरुण शंकर शुक्ला को चार लाख 956 मतों से हराया। अलीगढ़ से भाजपा प्रत्याशी मौजूदा सांसद सतीश कुमार गौतम ने सपा—बसपा—रालोद गठबंधन प्रत्याशी बसपा के अजीत बालियान को दो लाख 29 हजार 261 मतों से हराया।

यह भी पढ़ें- Loksabha Election 2019: नेहरू और इंदिरा के बाद मोदी ने रचा नया इतिहास, पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी

बांदा से भाजपा के आर.के. सिंह पटेल ने गठबंधन प्रत्याशी सपा के श्यामाचरण गुप्ता को 58 हजार 938 मतों से पराजित किया। गोरखपुर सीट से भाजपा उम्मीदवार भोजपुरी अभिनेता रवि किशन ने अपने निकटतम प्रतद्विंद्वी सपा—बसपा गठबंधन के राम भुआल निषाद को तीन लाख एक हजार 664 मतों से हराया।

किशन को सात लाख 17 हजार 122 मत मिले जबकि निषाद को चार लाख 15 हजार 458 वोट हासिल हुए। नगीना सीट से गठबंधन प्रत्याशी बसपा के गिरीश चन्द्र ने अपने निकटतम प्रतद्विंद्वी मौजूदा सांसद भाजपा के डॉक्टर यशवंत सिंह को एक लाख 66 हजार 832 मतों से पराजित किया।

रॉबर्ट्सगंज सीट से भाजपा के सहयोगी दल अपना दल—सोनेलाल के पकौड़ीलाल कोल ने गठबंधन प्रत्याशी सपा के भाई लाल कोल को 54 हजार 336 मतों से हराया। पिछली बार यह सीट भाजपा ने जीती थी। इस बार यह भाजपा से गठबंधन के तहत अपना दल को मिली थी।

यह भी पढ़ें- 12 सीटों पर जीता एनडीए, शिबू सोरेन, बाबूलाल और सुबोधकांत जैसे दिग्गज हारे

बहराइच लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार अक्षयवर लाल विजयी घोषित कर दिये गये हैं। जिलाधिकारी शम्भू कुमार ने बताया कि लाल ने अपने निकटतम प्रत्याशी सपा—बसपा—रालोद गठबंधन के शब्बीर वाल्मीकि को लगभग एक लाख 28 हजार 669 मतों से हराया। अक्षयवर लाल को पांच लाख 25 हजार 512 मत मिले।

वहीं, वाल्मीकि को तीन लाख 96 हजार 843 वोट हासिल हुए। कांग्रेस प्रत्याशी सावत्रिी बाई फुले 34 हजार 383 मत पाकर तीसरे स्थान पर रहीं और अपनी जमानत नहीं बचा सकीं। वह वर्ष 2014 में इसी सीट से सांसद चुनी गयी थीं।

वह भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गयी थीं। दलीय स्थिति पर नजर डालें तो अब तक छह सीटें भाजपा जीत चुकी है, जबकि 54 सीटों पर उसके प्रत्याशी बढ़त बनाये हुए हैं। इसके अलावा बसपा एक सीट जीतने के साथ—साथ 10 सीटों पर बढ़त बनाये हुए है। सपा पांच सीटों पर आगे चल रही है। वहीं, कांग्रेस, रालोद और अपना दल—सोनेलाल एक—एक सीट पर बढ़त बनाये हुए हैं।

यह भी पढ़ें- Loksabha Election 2019: पार्टी को धोखा देने वालों को जनता ने दिया धोखा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top