Top

डिफेंस एक्सपो 2020 : शौर्य प्रदर्शन के साथ-साथ रक्षा व्यापार पर नजर

डिफेंस एक्सपो 2020 : शौर्य प्रदर्शन के साथ-साथ रक्षा व्यापार पर नजर

लखनऊ। आसमान में गड़गड़ाती आवाजें और हेलिकॉप्टर से उतरते भारतीय सेना के जवानों के करतब ने डिफेंस एक्सपो के में मौजूद हर किसी को उत्साह से भर दिया। जब भी विमान या जवान करतब करते तो गोलियों के बीच भारत माता के जयकारे लगने शुरू हो जाते।

लखनऊ में बुधवार को 11वें डिफेंस एक्सपो की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, "देश के साथ-साथ पड़ोसी देशों को सुरक्षा देना हमारी जिम्मेदारी है। भारत की रक्षा महत्वाकांक्षा किसी देश के खिलाफ नहीं है। भारत विश्व शांति का पक्षधर रहा है।" इसी के साथ नरेन्द्र मोदी ने 10 फरवरी तक चलने वाले डिफेन्स एक्सपो की शुरुआत की।

डिफेंस एक्सपो में सभी के आकर्षण का केन्द्र रही ये मिसाइल।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा,"आज भारत में दो बड़े डिफेंस मैन्युफैकरिंग हब का निर्माण हो रहा है, एक तमिलनाडु व दूसरा उत्तर प्रदेश में। अगले पांच वर्षों में डिफेंस कॉरिडोर में 20 हजार करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य है। साथ ही, रक्षा उपकरणों का निर्यात 35 हजार करोड रुपये तक बढ़ाने का लक्ष्य है।"

लखनऊ में हो रहे इस डिफेंस एक्सपो में कई देशों के प्रतिनिधि भी आए हैं, जिनके सामने भारत अपने रक्षा उपकरणों का प्रदर्शन कर अपनी ताकत और सैन्य बाजार की संभावनाओं को तलाशने का अच्छा मौका है। इस एक्सपो का मकसद है कि रक्षा उपकरणों का उत्पादन कर निर्यात को बढ़ाना है।

दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाले टैंकर पर चढ़कर फोटो खिंचवाने की लगी रही लाइन।

एक्सपो के पहले दिन आसमान में करतब करते हेलीकाप्टर और लड़ाकू विमानों को देखने के साथ ही टैंक पर चढ़ कर फोटो खिंचवाने का भी लोगों में उत्साह रहा। इस एक्सपों में कई देशी-विदेशी कंपनियों ने अपने-अपने स्टॉल लगाए हैं, कई ऐसी भी कंपनियां हैं जो रक्षा क्षेत्र में भारत के साथ मिलकर काम कर रही हैं।

सरहद पर सेना के जवान जिन बंकरों और तंबुओं में रहते हैं उन्हें भी एक्सपो में गया है।

वहीं, जब कोई लड़ाकू विमान या हेलीकाप्टर हैरतअंगेज प्रदर्शन करता हुआ निकलता वहां मौजूद भीड़ वंदेमातरम और 'भारत माता की जय' के नारे लगाने लगती। वहीं एक लाइन में बैठे विदेशी सेनाओं के प्रतिनिधि भी भारत के इस शौय प्रदर्शन का हिस्सा बने।

खबर अपडेट हो रही है…

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.