आज बोलेगा ग्रामीण भारत, गांव कनेक्शन के राष्ट्रव्यापी सर्वे के मुख्य 25 सवाल जो 25,000 लोगों से पूछे गए

ग्रामीण भारत पर कोरोना लॉकडाउन का असर समझने के लिए 30 मई से 16 जुलाई 2020 के बीच 23 राज्यों के 25,300 लोगों से फेस टू फेस इंटरव्यू कर गांव कनेक्शन के सर्वेयर्स ने 100 के आसपास सवाल पूछे। इस सर्वे का डिजाइन और डाटा विश्लेषण नई दिल्ली स्थित थिंक टैंक सेंटर फॉर स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटी के लोकनीति-सीएसडीएस टीम द्वारा किया गया।

आज बोलेगा ग्रामीण भारत, गांव कनेक्शन के राष्ट्रव्यापी सर्वे के मुख्य 25 सवाल जो 25,000 लोगों से पूछे गए

नई दिल्ली। महीनों तक दुकानें नहीं खुलीं, फैक्ट्रियां बंद रहीं, शहरों से करोड़ों की संख्या में खाली हाथ और खाली पेट लोग गांव लौटे। जब सब कुछ बंद था, कोरोना का खौफ था तब भारत के गांवों में क्या हो रहा था? कई शहरों में खाने पीने की चीजों की सप्लाई सरकारी एजेसियां भी कर रही थीं, लेकिन गांवों में बाजार बंद होने पर क्या हुआ होगा? जिन घरों के पुरुष महिलाएं बेरोजगार गांव लौटे उनके घरों में चूल्हा कैसे जलता होगा?

लॉकडाउन के दौरान हो सकता है आपके मन में ये सवाल आए हों, नहीं आए तो अब सोचकर देखिएगा।

पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना महामारी की चपेट में है। इस अजीबोगरीब बीमारी का भारत पर कई देशों के मुकाबले ज्यादा असर पड़ा। गांव कनेक्शन ने कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन का ग्रामीण भारत पर असर जानने के लिए एक राष्ट्रव्यापी सर्वे कराया है। यह सर्वे इसलिए भी बहुत खास है क्योंकि यह सर्वे पूरी तरह गांवों के लोगों से बातचीत पर आधारित है।

भारत में कोरोना संकट को लेकर मेनस्ट्रीम मीडिया में सिर्फ शहरों की चर्चा हुई, जबकि लॉकडाउन के बाद से लेकर अब तक आर्थिक, सामाजिक और मानसिक रूप से सबसे अधिक गांव की जनता ही प्रभावित हुई है, जहां तीन में से दो भारतीय रहते हैं।

ग्रामीण भारत पर कोरोना लॉकडाउन का असर समझने के लिए 30 मई से 16 जुलाई 2020 के बीच 23 राज्यों के 25,300 लोगों से फेस टू फेस इंटरव्यू कर गांव कनेक्शन के सर्वेयर्स ने 100 के आसपास सवाल पूछे। इस सर्वे का डिजाइन और डाटा विश्लेषण नई दिल्ली स्थित थिंक टैंक सेंटर फॉर स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटी के लोकनीति-सीएसडीएस टीम द्वारा किया गया। सीएसडीएस का सर्वे की दुनिया में काफी बड़ा नाम है।


गांव कनेक्शन का यह सर्वे आज दोपहर बाद गांव कनेक्शन की वेबसाइट और www.ruraldata.in पर जारी किया जाएगा।

गांव कनेक्शन ने जो 100 सवाल पूछे उसके प्रमुख 25 सवाल यहां दिए जा रहे हैं, ताकि आपको अंदाजा हो सके कि सर्वे कितना व्यापक और आम लोगों से जुड़ा हुआ था-

1. लॉकडाउन की वजह से आपके व्यवसाय पर कितना बुरा असर पड़ा?

2.आपकी राय में मोदी सरकार को किसकी ज्यादा फिक्र है? अमीर की, गरीब की, अमीर गरीब दोनों की?

3.अगर आप किसान हैं तो क्या आपके खाते में किसान सम्मान निधि के 2000-2000 रुपए आए?

4.लॉकडाउन की वजह से आपके घर की कुल आमदनी पर कितना असर पड़ा है?

5.लॉकडाउन के दौरान आपको खाने-पीने की चीजों की कितनी दिक्कत रही?

6.लॉकडाउन के दौरान क्या सरकार की तरफ से आपके परिवार को राशन मिला?

7.लॉकडाउन के दौरान क्या सरकार की तरफ से आपको या आपके परिवार के किसी सदस्य के बैंक खाते में पैसा आया?

8.लॉकडाउन के दौरान आप या आपके परिवार के किसी सदस्य ने पैसे कम होने की वजह से कर्ज़ या उधार लिया?

9.आपने जो कर्ज़ या उधार लिया वह किस काम के लिए लिया?

10. लॉकडाउन के दौरान आपको अपना कोई कीमती सामान जैसे घड़ी, मोबाइल या जेवर आदि बेचने की जरूरत पड़ी?

11. क्या लॉकडाउन के दौरान आपको या आपके परिवार के किसी सदस्य को मनरेगा के तहत काम मिला?

12. लॉकडाउन में आपको किससे ज्यादा डर रहा, कोरोना महामारी का या भूख/आर्थिक तंगी का?

13. मोदी सरकार ने हर उस महिला जिनके पास जनधन अकाउंट है, उसके खाते में 500-500 रुपए प्रतिमाह डालना शुरू किया। क्या आपके परिवार में किसी महिला को इसका फायदा हुआ?

14.सरकार और डॉक्टरों द्वारा कोरोना से बचाव के लिए बार-बार हाथ धोने और साफ-सफाई के लिए कहा जा रहा है, क्या उसके लिए आपके घर में पर्याप्त पानी उपलब्ध होता है?

15.लॉकडाउन के दौरान क्या कभी ऐसा भी हुआ कि जरुरत पड़ने के बाद भी आप या आपके परिवार के लोग डॉक्टर के पास या अस्पताल नहीं गए?

16. क्या लॉकडाउन में आप के यहां (अगर महिला हुई तो) गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच और टीकाकरण हुआ?

17. लॉकडाउन के दौरान कभी ऐसा हुआ कि आप या आपके घर के किसी सदस्य को पैसे की कमी के चलते खाना न मिला हो या खाने में कटौती करनी पड़ी हो?

18. लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के प्रति मोदी सरकार का रवैया आपके हिसाब से कैसा रहा?

19. प्रवासी मजदूरों के प्रति राज्य सरकार का रवैया आपके हिसाब से कैसा रहा?

20. कोरोना अगर व्यापक तौर पर फैल जाता है तो क्या आप चाहेंगे कि सरकार फिर से लॉकडाउन करें?

21.कोरोना महामारी के चलते मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से आप संतुष्ट या असंतुष्ट?

22. क्या आपके गांव में लॉकडाउन के दौरान कोई व्यक्ति शहर से लौटकर गांव वापस आया?

23. लॉकडाउन के पहले महीने में, आपके इलाके में पुलिस का रवैया कैसा रहा?

24.क्या आप कमाने के लिए वापस शहर जाएंगे?

25. अगर आप किसान हैं तो आपको अपनी फसल बेचने में कितनी दिक्कत आई?

इन सवालों के जवाब हां, नहीं, बिल्कुल नहीं, पता नहीं, कोई जवाब नहीं जैसे मिले। वहीं कुछ सवाल सभी लोगों से संबंधित नहीं थे तो वहां जवाब 'लागू नहीं' मिला।


इन सवालों की फाइंडिग क्या हैं, आंकड़ें क्या कहते हैं, इसे जानने के लिए आप गांव कनेक्शन के साथ बने रहिए। सर्वे का पूरा डाटा "द रूलर रिपोर्ट" नाम से गांव कनेक्शन की इनसाइट वेबसाइट www.ruraldata.in पर मिलेगी।

सभी प्रश्न आप यहां देख सकते हैं-

इसके साथ ही सर्वे से जुड़ी खबरें और आंकड़े आप गांव कनेक्शन के हिंदी और इंग्लिश वेबसाइट के साथ ही सोशल मीडिया अकाउंट पर मिलेंगे। गांव कनेक्शन सर्वे के दौरान हजारों लोगों से वीडियो इंटरव्यू किए हैं जो हमारे Youtube चैनल पर मिलेंगे।

वेबसाइट हिंदी- www.gaonconnection.com

वेबसाइट इंग्लिश- https://en.gaonconnection.com/

ट्विटर हैंडल हिंदी- @GaonConnection

ट्विटर हैंडल इंग्लिश- @GaonConnectionE

YouTube - Gaon Connection TV


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.