जब संसद के बाहर चला कृषि मंत्री और दिग्विजय सिंह के बीच सवाल जवाब का सिलसिला

Anusha MishraAnusha Mishra   28 July 2017 9:40 AM GMT

जब संसद के बाहर चला कृषि मंत्री और दिग्विजय सिंह के बीच सवाल जवाब का सिलसिलादिग्वियज सिंह और राधामोहन सिंह

यूं तो नेताओं का एक-दूसरे पर बयानबाज़ी करना रोज़ की बात है लेकिन हाल ही में जो हुआ वो कुछ अलग था। देश के दो दिग्गज नेताओं के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ गई। ये जंग काफी दिलचस्प थी। देखते ही देखते दोनों एक-दूसरे पर ट्वीट्स के तीर चलाने लगे। इन दोनों नेताओं की की इस ट्विटर वॉर का फायदा कुछ आम लोगों ने भी उठाया और लगे हाथ अपने विचार भी व्यक्त कर दिए साथ ही इन्हें कुछ सलाह भी दे दीं।

मामला ये है कि कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह ने केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह पर कटाक्ष करते हुए एक ट्वीट कर दिया। उन्होंने ट्वीट में लिखा - कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह जी बाबू साहब भले आदमी हैं लेकिन 5 मिनट की बात 20 मिनट में कहते हैं। अब इतनी बात सुनकर भला बाबू साहब यानि राधामोहन सिंह कैसे चुप रहते। उन्होंने भी दिग्विजय सिंह पर पलट कर वार करते हुए ट्वीट किया - दिग्विजय बाबू आप कांग्रेस के वरिष्ठ व अनुभवी नेता हैं, शालीन व्यक्ति हैं, संसद में सवाल भी बहुत पूछते हैं पर उनके उत्तर भी सुनने चाहिए। इसके बाद तो जैसे राधामोहन सिंह पूरी तरह से जवाब देने के मूड में आ गए और एक के बाद एक ट्वीट कर दिग्विजय सिंह को जवाब दिया -

इन ट्वीट्स के बीच में दोनों ही नेताओं के समर्थकों ने भी नसीहत देते हुए कुछ ट्वीट किए। ये भी देख लीजिए -

हाल ही में संसद में एक बहस के दौरान राधामोहन सिंह से पीएसएफ योजना को लेकर सवाल किया गया था जिसका जवाब उन्होंने ठीक से नहीं दे पाया था और काफी समय भी लगाया था। कृषि व सहकारिता विभाग ने केंद्रीय योजना के रूप में 5000 करोड़ रुपये की धनराशि के साथ मूल्य स्थिरीकरण निधि (पीएसएफ) को मंजूरी दी है। इसका मकसद 2014-15, 2015-16 व 2016-17 के दौरान खराब होने वाले कृषि-बागबानी उत्पादों के मूल्य नियंत्रण व विपणन हस्तक्षेप की सहायता करना है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top